नौ रोगियों को नया जीवन दे गया रामकुमार

नौ रोगियों को नया जीवन दे गया रामकुमार
नौ रोगियों को नया जीवन दे गया रामकुमार

Dilip Sharma | Updated: 12 Oct 2019, 12:46:29 PM (IST) Coimbatore, Coimbatore, Tamil Nadu, India

declared as brain dead - ब्रेन डेड घोषित एक किशोर के अभिभावकों की पहल पर उसके अंगदान Youth donated organs से नौ जरूरतमंद रोगियों को नया जीवन मिला।

कोयम्बत्तूर. रथिनपुरी क्षेत्र के कॉलेज का 18 वर्षीय छात्र रामकुमार आठ अक्टूबर को गणपति इलाके में हुए हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे तत्काल कोयम्बत्तूर मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसकी हालत में कोई सुधार नहीं होने पर परिजन उसे एक निजी अस्पताल ले गए। वहां भी उपचार किया पर कोई फर्क नहीं पड़ा और १० अक्टूबर को चिकित्सकों ने उसे ब्रेन डेड घोषित declared as brain dead कर दिया। युवक के पिता बालसुब्रमणि और मां बी सुप्रिया ने दुख की इस घड़ी में अपने बेटे के अंगदान का निर्णय किया। ताकि जरूरतमंद रोगियों को नया जीवन मिल सके। उन्होंने अस्पताल प्रशासन को अपने फैसले की जानकारी दी। चिकित्सकों ने उनके निर्णय की सराहना करते हुए ऑपरेशन की व्यवस्था की।
शुक्रवार को मल्टी ऑर्गन ट्रांसप्लांट सर्जन और उनकी टीम ने रामकुमार के दिल, फेफड़े, लीवर, किडनी, आंख, त्वचा और हड्डियों को दूसरे रोगियों के उपयोग के लिए निकाले। निजी अस्पताल में ही एक मरीज के युवक का लीवर और एक किडनी प्रत्यारोपित की गई। दूसरी किडनी आंखें, त्वचा और हड्डियों को कोयम्बत्तूर के दूसरे निजी अस्पताल पहुंचाया गया। दिल और फेफड़े को चेन्नई के एक निजी अस्पताल भेज दिया गया, जहां जरूरतमंदों के अंग प्रत्यारोपित कर दिए गए। रामकुमार के अभिभावकों ने कहा कि उन्हें खुशी है कि उनके पुत्र के अंग दूसरों के काम आ सके।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned