15 साल बाद एडिलेड के मैदान पर दिखी द्रविड़ की झलक, तब बनाये थे 233 आज बनाये 123

15 साल बाद एडिलेड के मैदान पर दिखी द्रविड़ की झलक, तब बनाये थे 233 आज बनाये 123

Prabhanshu Ranjan | Publish: Dec, 06 2018 01:55:55 PM (IST) | Updated: Dec, 06 2018 01:59:48 PM (IST) क्रिकेट

एडिलेड में जब 2003 में भारतीय टीम ऐसे ही संकट में घिड़ी थी तो राहुल द्रविड़ ने अपने बल्ले से ऐसी मैराथॉन पारी खेली थी की विरोधी ऑस्ट्रेलिया की टीम बंगले झांकने लगी थी । तब द्रविड़ का साथ वेरी वेरी स्पेशल लक्ष्मण ने दिया था ।

नई दिल्ली । एडिलेड ओवल के मैदान पर चल रहे भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पहले टेस्ट में जहां भारतीय टीम बैकफुट पर थी । विराट भी सस्ते में अपना विकेट गवां कर चले गए तो चेतेश्वर पुजारा जिन्हें अपनी ठोस बल्लेबाजी के लिए दुनिया भर में जाना जाता है ने कमाल की बल्लेबाजी से दर्शकों को आत्ममुग्ध कर दिया । उन्होंने अपनी बल्लेबाजी के दौरान पूर्व भारतीय बल्लेबाज और महान क्रिकेटर जिन्हें "क्रिकेट की दिवार" के नाम से भी जाना जाता है की याद दिला दी ।

तब दिवार ने खेली थी स्पेशल पारी-
एडिलेड में जब 2003 में भारतीय टीम ऐसे ही संकट में घिड़ी थी तो राहुल द्रविड़ ने अपने बल्ले से ऐसी मैराथॉन पारी खेली थी की विरोधी ऑस्ट्रेलिया की टीम बंगले झांकने लगी थी । तब द्रविड़ का साथ वेरी वेरी स्पेशल लक्ष्मण ने दिया था । जहां द्रविड़ ने पहली पारी में 233 रन बनाये थे वही लक्ष्मण ने 148 रनों की शानदार पारी खेली थी । इन दोनों के अलावा भारतीय टीम का कोई और बल्लेबाज अर्धशतक भी नहीं लगा पाया था । सचिन,सहवाग और गांगुली जैसे भारत के स्टार बल्लेबाजों में केवल सहवाग ने ही दोनों पारियों में 47 रनों की पारी खेली थी । द्रविड़ और लक्ष्मण के शानदार शतकों के बदौलत भारतीय टीम ने यह मैच चार विकटों से जीत लिया था ।


कप्तान कोहली सस्ते में निपटे-
भारतीय टीम की बल्लेबाजी के दौरान एक तरफ विकेटों का पतझड़ दिखा तो दूसरी तरफ पुजारा दीवार से खड़े नजर आए और उन्होंने शानदार शतक जड़कर अपने करियर का 16वां शतक भी पूरा किया और भारत का स्कोर 226 पर पहुंचा दिया। एक समय भारत ने पहले सत्र में 41 रनों पर ही अपने चार विकेट खो दिए थे। यहां से 11 महीनों बाद टेस्ट में वापसी कर रहे रोहित (37) और पुजारा ने टीम को थोड़ी देर तक संभाले रखा। अपनी बल्लेबाजी के दौरान उन्होंने 2003 में इसी मैदान में खेले गए मैच की याद दिला दी जब द्रविड़ ने अपने बल्ले से ऑस्ट्रेलिया की मुँह से जीत चीन ली थी ।इस सीरीज से पहले कोहली की बल्लेबाजी को लेकर काफी सकारात्मक बातें कहीं गई थी। लेकिन यह दिग्गज बल्लेबाज पहली पारी में सिर्फ तीन रन ही बना सका। 19 के कुल स्कोर पर कमिंस की गेंद पर उस्मान ख्वाजा ने उनका बेहतरीन कैच पकड़ा।

Ad Block is Banned