हट सकता है राजस्थान क्रिकेट संघ पर लगा बैन

चार साल बाद हट सकता है राजस्थान क्रिकेट संघ का निलंबन, अपनी अगली एसजीएम मीटिंग में इस मुद्दे पर बात कर सकता है बीसीसीआई

By: Kuldeep

Published: 16 Nov 2017, 04:14 PM IST

नई दिल्ली। पिछले चार साल से निलंबित राजस्थान क्रिकेट संघ (आरसीए) का निलंबन ख़तम होने जा रहा है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अपनी अगली एसजीएम मीटिंग में इस मुद्दे पर बात कर सकता है और चार साल से निलंबित रजस्थान क्रिकेट संघ का खत्म कर सकता है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त बीसीसीआइ के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना को सीओए अध्यक्ष विनोद राय ने एसजीएम आयोजित करने के लिए नोटिस भेजा है। खन्ना को गुरुवार को एसजीएम की तिथि घोषित करनी है। में सभी साथियों के साथ बातचीत कर रहा हू। साथ ही हमें एसजीएम का एजेंडा भी तय करने की जरूरत है। साधारण तौर पर एसजीएम बुलाने के लिए 10 दिन के समय की जरूरत होती है।

खन्ना ने कहा
जब उनसे राजस्थान क्रिकेट संघ के निलंबन को वापस लेने की बात पूछी गई तो उन्होंने कहा कि एसजीएम के एजेंडे में आरसीए का निलंबन वापस लेने का मामला भी है। बाकी का फैसला सदस्यों के ऊपर है। हालांकि अधिकतर सदस्य आरसीए का निलंबन खत्म करने के पक्ष में हैं क्योंकि चुनाव हो चुके हैं और नई समिति अच्छा काम कर रही है।

ललित मोदी के कारण निलंबित किया था
बीसीसीआई ने आइपीएल में अव्यवस्था के कारण 2010 में पूर्व चेयरमैन ललित मोदी को निलंबित किया था। बीसीसीआइ ने आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी के राजस्थान क्रिकेट असोसिएशन का चेयरमैन नियुक्त होते ही आरसीए को निलंबित कर दिया था। बीसीसीआइ नहीं चाहता था कि आरसीए में मोदी का वर्चस्व रहे लेकिन इसके बावजूद मोदी के आरसीए से अध्यक्ष के रूप में जुड़े रहने के कारण बीसीसीआइ ने सितंबर 2013 में आरसीए पर भी प्रतिबंध लगा दिया। इसको लेकर बहुत मुकदमेबाजी भी हुई। बीसीसीआइ ने खन्ना की अध्यक्षता में आरसीए के लिए एक समिति का भी गठन किया था। इसके बाद इस साल जून में हुए आरसीए के चुनाव में 66 वर्षीय सीपी जोशी ने ललित मोदी के 22 वर्षीय बेटे रूचिर मोदी को हराकर अध्यक्ष पद का चुनाव जीता।

बीसीसीआई की एसजीएम में इसके अलावा लोढ़ा कमेटी द्वारा जारी सभी सुझावों को अभी तक लागू नहीं करने पर चर्चा होगी। साथ ही घरेलू भुगतान संरचना को भी संशोधित करने का फैसला इस बैठक में हो सकता है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned