बर्थडे विशेष: जब क्रिकेट छोड़ कनाडा में ट्रक ड्राइवर की नौकरी करना चाहते थे हरभजन सिंह, जानें उनकी संघर्षगाथा

बर्थडे विशेष: जब क्रिकेट छोड़ कनाडा में ट्रक ड्राइवर की नौकरी करना चाहते थे हरभजन सिंह, जानें उनकी संघर्षगाथा

Akashdeep Singh | Updated: 03 Jul 2018, 12:44:28 PM (IST) क्रिकेट

Harbhajan Singh's birthday special, हरभजन सिंह भारत के तीसरे सफल टेस्ट गेंदबाज हैं साथ ही ODI क्रिकेट में वह पांचवें सबसे सफल भारतीय गेंदबाज हैं।

नई दिल्ली। आज से 38 साल पहले 1980 में पंजाब के जालंधर में हरभजन सिंह का जन्म हुआ था। हरभजन सिंह भारतीय टेस्ट क्रिकेट इतिहास में तीसरे सबसे सफल गेंदबाज हैं। हरभजन हमेशा से ही क्रिकेट फील्ड के अंदर और बाहर चर्चाओं का विषय रहे हैं। उनका और विवादों का पुराना नाता रहा है, आज हम उनके जन्मदिन पर आपको उनके एक अनसुने किस्से से वाकिफ कराएंगे। हरभजन एक मिडिल क्लास फैमिली से आते हैं और संघर्षों के बाद वह इस मुकाम तक पहुंच सके हैं। आइए जानते हैं संघर्ष से जुड़ी भारत के 'ऐस' ऑफ स्पिनर की गाथा।


जब ट्रक चलाने को मजबूर हुए थे भज्जी
अपने पिता के इंतकाल के बाद छोटी सी उम्र में हरभजन पर अपने घर को चलाने की जिम्मेदारी आ गई थी। इस कारण वह अपने बनते क्रिकेट करियर को छोड़कर कनाडा जाकर ट्रक ड्राइवर की नौकरी करने की ठान चुके थे। लेकिन किस्मत को यह मंजूर न हुआ और भज्जी की किस्मत का ताला खुला और उनको भारतीय टीम से खेलने का दोबारा मौका 2001 में मिला जिसको उन्होंने जाने नहीं दिया और इस मौके के चलते उनके हालत सुधर गए। अगर हरभजन को उस समय भारतीय टीम में मौका नहीं मिला होता तो शायद हरभजन कनाडा में ट्रक ड्राइवर होते। आपको बता दें की हरभजन भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में 1998 में अपना डेब्यू कर चुके थे।


2001 के बाद बदली हरभजन की किस्मत
हरभजन सिंह भारत के सबसे सफल ऑफ स्पिन गेंदबाज हैं। क्रिकेट के जानकर भले ही हरभजन के गेंद को कम हवा देने पर सवाल खड़े करे लेकिन वह इसके बिना भी बहुत ही सफल गेंदबाज बने। उन्होंने ऐसे समय में सफलता हासिल की जब बल्ले चौड़े और भारी होने लगे, बाउंड्री छोटी होने लगीं और स्पिन गेंदबाजों के लिए क्रिकेट मुश्किल होने लगा। हरभजन को उनके एक्शन के लिए ICC से नोटिश भी मिला। लेकिन मार्च 2001 में उन्होंने यह साबित कर दिया कि वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में खुद को स्थापित करने आएं हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में 32 विकेट झटके। इसके साथ ही टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बने । इस सीरीज में हरभजन के अलावा कोई भी भारतीय गेंदबाज 3 विकेट से ज्यादा नहीं ले पाया था।


हरभजन का करियर STATS
हरभजन सिंह ने अपने करियर में बहुत सफलताएं हासिल की हैं, उन्होंने 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट लिए हैं। एकदिवसिए क्रिकेट में उन्होंने 236 मैचों में 269 विकेट लिए हैं। इसके साथ ही 28 T20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में उन्होंने 25 विकेट झटके हैं। आईपीएल के 149 मैचों में उन्होंने 134 विकेट झटके हैं। इसके साथ ही वह टेस्ट क्रिकेट में 2 शतक भी लगा चुके हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned