...तो धोनी ने अपने नाम किया ये एक और अनोखा रिकॉर्ड

धोनी अब वो कीर्तिमान बनाने जा रहे हैं जो सबसे अनोखा है और धोनी एशिया कप में अलग-अलग फॉर्मेंट में 2 ट्रॉफी जीतने वाले पहले खिलाड़ी है

नई दिल्ली। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अब वो कीर्तिमान बनाने जा रहे हैं जो सबसे अनोखा है और धोनी एशिया कप में अलग-अलग फॉर्मेंट में 2 ट्रॉफी जीतने वाले पहले खिलाड़ी है। वनडे में तो धोनी 2010 में ही भारतीय टीम को एशिया कप चैंपियन बना चुके हैं, लेकिन अब पहली बार टी-20 फॉर्मेंट में आयोजित एशिया कप की ट्रॉफी पर भी धोनी ने कब्जा कर लिया है।

दरअसल अगर किसी और कप्तान को ये रिकॉर्ड बनाना है तो पहले वनडे का टूर्नामेंट जीतना होगा और फिर टी-20 का। क्योंकि मौजूदा समय में धोनी के अलावा और कोई कप्तान नहीं है जिसने एशिया कप में टीम को चैंपियन बना हो और दोनों फॉर्मेंट में टीम की कमान संभाल रहे हो। साथ ही इस कीर्तिमान को बनाने के लिए धोनी के सामने वो टीम थी जो अभी तक सिर्फ 2 ही टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची है और दोनों में उसे हार मिली है।

बांग्लादेश ने 2009 में ट्राई सीरीज का फाइनल खेला जबकि 2012 में एशिया कप लेकिन दोनों में शिकस्त का सामना करना पड़ा। वहीं अगर सिर्फ महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी की बात करें तो वो ट्रॉफी के रिकॉर्ड की हॉफ सेंचुरी पूरी करने के करीब हैं। धोनी टेस्ट, वनडे और टी-20 में मिलाकर 40 से ऊपर ट्रॉफी जीत चुके हैं।

टेस्ट में धोनी ने 12 ट्रॉफी जीती हैं, जबकि वनडे में कुल मिलाकर 22 ट्रॉफी उनके नाम हैं। टी-20 में 9 ट्रॉफी धोनी की भारत की तरफ से हैं यानी 43 ट्रॉफी। अगर इसमें 2 आईपीएल और 2 चैंपियंस लीग में ट्रॉफी भी जोड़ दे तों ये आंकड़ा 46 तक पहुंच जाता है।

यानी धोनी तेजी से ट्रॉफी के अर्धशतक की ओर बढ़ रहे हैं और एशिया कप के बाद वर्ल्ड कप की ट्रॉफी भी उनका इंतजार कर रही है। बता दें कि करीब 9 साल पहले दक्षिण अफ्रीका में आयोजित टी-20 वर्ल्ड कप ही वो टूर्नामेंट हो जिसमें महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी में पहली ट्रॉफी जीती। धोनी ने ही 2011 में आईसीसी का वनडे वर्ल्ड कप जीता और फिर 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी में भी जीत का सूखा खत्म कर दिया था।
Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned