मुख्य कोच रवि शास्त्री और सपोर्ट स्टाफ का कार्यकाल 45 दिन के लिए बढ़ेगा

  • मुख्य कोच, सपोर्ट स्टाफ का कॉन्ट्रेक्ट विश्व कप के बाद समाप्त होना था
  • मुख्य कोच रवि शास्त्री की देखरेख में भारतीय टीम का प्रदर्शन शानदार
  • रवि शास्त्री की टीम में संजय बांगर, भरत अरुण और आर. श्रीधर हैं

By: Manoj Sharma

Updated: 13 Jun 2019, 04:59 PM IST

नई दिल्ली। विश्व कप क्रिकेट 2019 में भारतीय टीम अपने मुख्य कोच रवि शास्त्री की देखरेख में शानदार प्रदर्शन कर रही है। इस बीच बीसीसीआई के प्रशासकों की समिति (सीओए) ने रवि शास्त्री के करार को डेढ़ महीने के लिए बढ़ाने का फैसला लिया है। सीओए का यह फैसला बीसीसीआई की वेबसाइट पर डाला गया है।

मुख्य कोच और सपोर्ट स्टाफ का करार बढ़ा

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री के साथ उनके सपोर्ट स्टाफ का करार भी 45 दिन के लिए बढ़ाया जाएगा। आपको बता दें कि मुख्य कोच और उनके सपोर्ट स्टाफ का कॉन्ट्रेक्ट विश्व कप के बाद समाप्त हो रहा है।

कॉन्ट्रेक्ट में बढ़ोतरी एडहॉक बेसिस पर होगी

बताया जाता है कि सीओए ने यह निर्णय लिया है कि मुख्य कोच के सपोर्ट स्टाफ के कार्यकाल में एडहॉक बेसिस पर बढ़ोतरी की जाएगी। कार्यकाल में यह विस्तार 45 दिनों के लिए किया जाएगा। विश्व कप के बाद सहयोगी स्टाफ के लिए साक्षात्कार किए जाएंगे। वर्तमान मुख्य कोच शास्त्री की टीम में सहायक कोच संजय बांगर, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फील्डिंग कोच आर. श्रीधर हैं।

Sachin, Ganguly, Laxman

मुख्य कोच की नियुक्ति में तेंदुलकर, गांगुली, लक्ष्मण की भूमिका

आपको बता दें कि भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच की नियुक्ति में क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) की भूमिका काफी महत्वपूर्ण होती है। यही वजह है कि बीसीसीआई प्रबंधन सीएसी के सदस्यों से नए कोच और स्पोर्ट स्टाफ की नियुक्ति के संबंध में विचार-विमर्श करेगा। इसके बाद ही रिपोर्ट सीओए को भेजी जाएगी। सीएसी के तीन सदस्य हैं - सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण। बीसीसीआई संविधान ने मुख्य कोच का चयन की जिम्मेदारी सीएसी को दी है।

Show More
Manoj Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned