कोहली पड़े लॉथम-साउदी के संघर्ष पर भारी

कोहली पड़े लॉथम-साउदी के संघर्ष पर भारी

धर्मशाला में भारत के एेतिहासिक 900वें वनडे मैच में 48 रन पर 5 विकेट और 65 रन पर 7 विकेट खोने वाली न्यूजीलैंड को ओपनर टॉम लॉथम और 10वें नंबर पर आए टिम साउदी ने साझेदारी कर 190 रन तक पहुंचाया। बाद में टीम इंडिया के भी विकेट गिरा दिए। लेकिन उपकप्तान विराट कोहली की फॉर्म उन पर भारी पड़ गई। कोहली ने नाबाद 85 रन बनाते हुए अकेले दम पर ३४वें ओवर में जीत दिला दी।

धर्मशाला। एक समय अपने सात विकेट मात्र 65 रन पर खो देने वाली न्यूजीलैंड ने अपने ओपनर टॉम लॉथम के नाबाद 79 और 10वें नंबर के बल्लेबाज टिम साउदी के 55 रन से पारी संभालकर 43.5 ओवर में 190 रन का लक्ष्य खड़ा किया। जवाब में उतरी टीम इंडिया के 3 विकेट 102 रन पर गिरा दिए, लेकिन टेस्ट टीम के कप्तान और वनडे के उपकप्तान विराट कोहली ने नाबाद 85 रन बनाते हुए टीम को 33.1 ओवर जीत दिला दी। इससे पहले कीवी टीम को शुरुआती झटके देने में उमेश यादव के साथ करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच खेल रहे हार्दिक पांड्या (31 रन पर तीन विकेट) ने अहम भूमिका निभाई।

बड़ा स्कोर नहीं बना पाए अन्य भारतीय
कीवी टीम को जल्द समेटने के बाद भारत के लिए सलामी बल्लेबाजों रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे ने 9.2 ओवर में 49 रन जोडक़र अच्छी शुरुआत की। रोहित 14 रन बनाकर ब्रेसवैल की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए, जबकि 33 रन में 4 चौके और 2 छक्के लगा चुके रहाणे की शानदार पारी का अंत निशाम ने किया। रहाणे निशाम की गेंद का स्विंग नहीं समझ पाए और गेंद बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर ल्यूक रोंची के दस्तानों में समा गई। मनीष पांडे भी ज्यादा नहीं टिके और 22 गेंद में 17 रन बनाकर ईश सोढ़ी की गेंद पर आउट हो गए।

कोहली के ही नाम रही पूरी पारी
उस समय विकेट पर विराट कोहली 25 रन बनाकर मौजूद थे। 5वें नंबर के बल्लेबाज के तौर पर आए कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने कोहली का अच्छा साथ दिया और दोनों ने तेजतर्रार तरीके से 9 ओवर में 60 रन जोड़े। धौनी अभाग्यशाली रहे और 29वें ओवर में 24 गेंद में 21 रन बनाकर रनआउट हो गए। इसके बाद कोहली ने केदार जाधव के साथ मिलकर टीम को जीत दिला दी। कोहली ने नाबाद 85 रन की पारी में 81 गेंद खेलते हुए 9 चौके और 1 छक्का लगाया। केदार ने 12 गेंद में नाबाद 10 रन बनाए।

900 वनडे खेलने वाली पहली टीम बना भारत
इससे पहले महेंद्र सिंह धौनी ने देश के ऐतिहासिक 900वें वनडे मुकाबले में विशेष रूप से तैयार सोने के सिक्के से टॉस जीतने के बाद पहले क्षेत्ररक्षण का सही निर्णय किया। पांड्या, उमेश यादव और पार्ट टाइम स्पिनर केदार जाधव की गेंदबाजी पर अपने सबसे कम स्कोर पर ढेर होती दिखाई दे रही कीवी टीम को लाथम और साउदी ने नौवें विकेट के लिए बेशकीमती 71 रन जोडक़र संभाला। पांड्या के अलावा उमेश यादव ने 31 रन पर और केदार जाधव ने छह रन पर दो विकेट लिए। लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने 49 रन देकर आखिरी तीन कीवी बल्लेबाजों को निपटाया।
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned