Team India के श्रीलंका दौरे पर संकट, BCCI अधिकारी ने बताया कारण

BCCI अधिकारी ने कहा कि हालांकि श्रीलंका दौरे में अभी वक्त है, लेकिन भारतीय टीम जुलाई में वहां खेलने जाए, यह असंभव सा लग रहा है।

By: Mazkoor

Updated: 17 May 2020, 06:37 PM IST

नई दिल्ली : कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण इस समय पूरी दुनिया में क्रिकेट पूरी तरह बंद है और सभी देश के बोर्ड मौजूदा हालात के मद्देनजर आगामी सीरीज और टूर्नामेंट की योजना बना रहे हैं और उसकी तैयारी में लगे हैं। इसी कड़ी में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (SLC) ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) से अपील की है कि जुलाई के मध्य में होने वाला सीमित ओवरों की सीरीज को बरकरार रखा जाए और इसे टीम इंडिया के श्रीलंका दौरे को रद्द न किया जाए। वहीं बीसीसीआई की मानें तो यह दौरा होना असंभव लगता है।

बता दें कि श्रीलंका उन गिने-चुने देशों में शामिल है, जहां कोरोना वायरस का असर ज्यादा नहीं हुआ है। श्रीलंका बोर्ड ने बीसीसीआई को अपने यहां आईपीएल (IPL) का 13वां संस्करण भी करवाने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन बीसीसीआई ने तब इसे खारिज कर दिया था।

Team India को इस देश में नहीं मिलता समर्थन, Rohit Sharma ने किया खुलासा

श्रीलंका दौरा असंभव

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि हालांकि श्रीलंका दौरे में अभी वक्त है, लेकिन भारतीय टीम जुलाई में वहां खेलने जाए, यह असंभव सा लग रहा है। उन्होंने आगे कहा कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए एक समय में एक ही कदम उठाना होगा। आपको पता ही है कि हमारे कुछ खिलाड़ी मुंबई और बेंगलूरु में फंसे हैं। यह दोनों जोन कोरोनावायरस से काफी बुरी तरह प्रभावित हैं।

अंतरराष्ट्रीय यातायात है बड़ी समस्या

अधिकारी ने कहा कि इसके बावजूद वह इस सवाल में जाने के बजाय कि क्या भारतीय टीम विराट कोहली और रोहित शर्मा के बिना दौरा करेगी, वह यह पूछना पसंद करेंगे कि ऐसे समय में क्या अंतरराष्ट्रीय यातायात संभव हो सकेगा? इसलिए हमें इंतजार करने की नीति अपनानी होगी। सरकार जिस शिद्दत से कोरोना वायरस से लड़ रही है, उसमें उन्हें संदेह है कि हम जुलाई के मध्य में देश से बाहर सफर करने की स्थिति में होंगे।

Virat Kohli की तारीफ में Kevin Pietersen निकले सबसे आगे, जानें क्या-क्या कहा

सुरक्षा प्राथमिकता है

बीसीसीआई अधिकारी ने कहा कि बोर्ड निश्चित तौर पर अपनी प्रतिबद्धताएं पूरा करने का प्रयास करेगा। अगर अभी संभव नहीं हुआ तो बाद में करेंगे। फिलहाल दोनों सीमाओं के लिए यही मुफीद है। उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए सुरक्षा हमारी प्राथमिकता में है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि रेड जोन में फंसे खिलाड़ियों को ग्रीन जोन में लाने की मंजूरी भी नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार निकट भविष्य में इसकी मंजूरी देती है, तब देखते हैं कि क्या होता है। क्या हम घरेलू क्रिकेट शुरू कर सकते हैं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned