पाकिस्तानी पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ने धोनी के बारे में कहा कुछ ऐसा, जिससे हर भारतीय को होगा गर्व

धोनी के कप्तानी छोड़ने के फैसले पर अधिकतर पूर्व दिग्गज खिलाडियों ने सहमति जताई है और धोनी के इस कठिन फैसले की प्रशंसा की है। क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से लेकर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने भी धोनी के इस फैसले की प्रशंसा की है...

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने के साथ ही एक सफल कप्तानी का दौर ख़त्म हो गया। अब यह जिम्मेदारी उठाने के लिए चयनकर्ता किस खिलाड़ी पर कप्तानी का भरोसा जताते हैं वो आज इंग्लैंड के खिलाफ आगामी एकदिवसीय और टी20 श्रृंखला में चयन के दौरान पता चल ही जायेगी। माना यही जा रहा है कि वर्तमान  के टेस्ट कप्तान विराट कोहली को ही तीनों फॉर्मेट की कप्तानी की कमान सौंपी जा सकती है। आगामी श्रृंखला के लिए चयन के लिए एमएस भी बतौर विकेट कीपर बल्लेबाज के तौर पर मौजूद हैं।

वहीं धोनी के कप्तानी छोड़ने के फैसले पर अधिकतर पूर्व दिग्गज खिलाडियों ने सहमति जताई है और धोनी के इस कठिन फैसले की प्रशंसा की है। क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से लेकर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने भी धोनी के इस फैसले की प्रशंसा की है। धोनी की प्रशंसा करने वाले पूर्व खिलाड़ियों में अब पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर जहीर अब्बास भी शामिल हो गए हैं। उन्होंने धोनी की जमकर तारीफ की है।

Related image

यह भी पढ़ें-
धोनी एक वनडे मैच में और कप्तानी करते तो बन जाता ये रिकॉर्ड, जानें! आखिर क्या रही वजह जिससे छोड़ दी कप्तानी

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जहीर अब्बास ने महेंद्र सिंह धोनी के पाकिस्तान में 2005-06 के प्रदर्शन को याद करते हुए कहा कि उसके जैसे कप्तान बार बार पैदा नहीं होते लेकिन बतौर बल्लेबाज भी धोनी का योगदान कम नहीं है।

Image result for ms dhoni first match
अब्बास ने पाकिस्तान से भाषा से बातचीत में कहा,‘‘मुझे याद है कि जब 2005-06 में भारतीय टीम पाकिस्तान दौरे पर आई थी और लाहौर में धोनी ने 46 गेंद में 72 रन बनाए थे और भारत को जीत दिलाई थी. वहीं से उसके स्टारडम की शुरूआत हुई थी जब जनरल परवेज मुशर्रफ ने सरेआम उसके हेयर स्टाइल की तारीफ की थी।’’

यह भी पढ़ें-
अद्भुत, अतुलनीय: शानदार रहा 'माही' की कप्तानी का सफर

उन्होंने कहा,‘‘ धोनी जैसे कप्तान बार बार पैदा नहीं होते लेकिन बतौर बल्लेबाज भी उसका योगदान कम नहीं रहा है. जब जब भारतीय टीम पर संकट आया है, उसने जरूरत के समय मोर्चे से अगुवाई करते हुए रन बनाये हैं।’’

Image result for dhoni and jahir abbas
अब्बास ने कहा कि अभी धोनी के भीतर काफी क्रिकेट बाकी है लेकिन उन्हें लगता नहीं कि वह ज्यादा समय तक खेलेगा। उन्होंने कहा,‘‘उसकी अभी इतनी उम्र नहीं हुई है और कोई उसे संन्यास लेने के लिये बाध्य नहीं कर सकता। मुझे लगता है कि एक खिलाड़ी को पता चल जाता है कि उसे कब तक खेलना है और वह अपने कैरियर के आखिरी दौर में इत्मीनान से अपने खेल का मजा लेना चाहता है।


राहुल
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned