दागी शरजील की क्रिकेट में वापसी पर हफीज ने जताई नाखुशी, पीसीबी भड़का

PCB ने भ्रष्टाचार के आरोप में पांच साल के लिए प्रतिबंधित Sharjeel Khan की सजा कम कर ढाई साल में ही मैदान पर वापसी करा दी है।

By: Mazkoor

Published: 22 Mar 2020, 02:54 PM IST

लाहौर : पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने भ्रष्टाचार के आरोप में पांच साल के लिए प्रतिबंधित किए गए शरजील खान (Sharjeel Khan) की सजा कम कर ढाई साल में ही मैदान पर वापसी करा दी है। पीसीबी के इस निर्णय की पाकिस्तान के अनुभवी खिलाड़ी मोहम्मद हफीज (Mohammad Hafeez) ने आलोचना की। इस पर पीसीबी ने हफीज को सख्त लहजे में नसीहत देते हुए कहा कि वह साथी खिलाड़ियों की आलोचना करने और पीसीबी की राजनीति पर टिप्पणी करने के बजाए अपना ध्यान खेल पर लगाएं। बता दें कि शरजील खान की वापसी को लेकर सिर्फ मोहम्मद हफीज ने सवाल नहीं उठाया है, बल्कि पीसीबी की नीति को लेकर विश्व व्यापी बहस छिड़ गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'जनता कर्फ्यू' को इंग्लिश बल्लेबाज पीटरसन का मिला समर्थन, कहा- शुक्रिया

पीसीबी बोला, आलोचना के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल न करें क्रिकेटर

पीसीबी सीईओ वसीम खान ने मोहम्मद हफीज को नसीहत देते हुए कहा कि वर्तमान खिलाड़ियों को अन्य खिलाड़ियों की आलोचना करने और क्रिकेट बोर्ड की नीतियों पर बात करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस प्लेटफॉर्म पर वह विश्व क्रिकेट या क्रिकेट की दूसरी चीजों को लेकर अपनी राय रख सकते हैं, लेकिन खिलाड़ियों और बोर्ड के सही और गलत के बारे में वह इस प्लेटफॉर्म पर बात नहीं कर सकते। उन्हें यह काम क्रिकेट बोर्ड पर छोड़ देना चाहिए।

शरजील पर 2017 में लगा था पांच साल का प्रतिबंध

शरजील खान को 2017 में पाकिस्तान सुपर लीग में भ्रष्टाचार का दोषी पाए जाने पर पीसीबी ने उन पर पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया था, लेकिन बाद में उनकी सजा कम कर दी थी।

Janta Curfew : वीरेंद्र सहवाग ने किया समर्थन, रोचक अंदाज में बताया कैसे बिताएं पूरा दिन

हफीज ने आमिर की वापसी पर भी खड़े किए थे सवाल

बता दें कि मोहम्मद हफीज ने कुछ साल पहले मोहम्मद आमिर की पाकिस्तानी टीम में वापसी पर भी सवाल उठाए थे। अब बोर्ड के सीईओ वसीम खान ने कहा है वह निजी तौर पर हफीज से बात कर उन्हें समझाएंगे। उन्होंने कहा कि हफीज को अन्य खिलाड़ियों के गलत और अच्छे पर बात करने के बजाय अपने खेल पर ध्यान देना चाहिए।उनहोंने यह भी कहा कि वह क्रिकेट के बारे में अपनी राय रख सकते हैं, लेकिन अन्य खिलाड़ियों के बारे में निजी राय नहीं दे सकते।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned