Opinion : हार्दिक पांड्या को लेनी चाहिए क्रिस वोक्स से सीख, मुश्किल वक़्त पर कैसे रखा जाता है धैर्य

Opinion : हार्दिक पांड्या को लेनी चाहिए क्रिस वोक्स से सीख, मुश्किल वक़्त पर कैसे रखा जाता है धैर्य

Siddharth Rai | Publish: Aug, 12 2018 11:15:25 AM (IST) क्रिकेट

वोक्स ने रन भी बनाए और शानदार गेंदबाजी करते हुए विकेट भी चटकाए। वहीं अगर हम बात करें भारतीय ऑलराउंडर की तो पांड्या का प्रदर्शन बेहद ख़राब रहा है। अश्विन ने इस मैच में थोड़ा जोर लगाया है लेकिन वे इस टीम में एक गेंदबाज के रूप में जुड़े हैं और पांड्या ऑलराउंडर के रूप में।

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच जारी पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा टेस्ट क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान में खेला जा रहा है। इस मैच में भारतीय बल्लेबाज पूरी तरह फ्लॉप रहे हैं। इस मैच में इंग्लैंड के लिए उनके ऑलराउंडर क्रिस वोक्स ने शानदार प्रदर्शन किया है। वोक्स ने रन भी बनाए और शानदार गेंदबाजी करते हुए विकेट भी चटकाए। वहीं अगर हम बात करें भारतीय ऑलराउंडर की तो पांड्या का प्रदर्शन बेहद ख़राब रहा है। अश्विन ने इस मैच में थोड़ा जोर लगाया है लेकिन वे इस टीम में एक गेंदबाज के रूप में जुड़े हैं और पांड्या ऑलराउंडर के रूप में।

वोक्स से सीखें पांड्या कैसे रखते हैं धैर्य
दरअसल भारत की हालत भी पहली पारी में इंग्लैंड की तरह ही थी जब पांड्या बल्लेबाजी करने उतरे। दूसरी तरह अजिंक्य रहाणे जैसा प्रतिभाशाली बल्लेबाज अच्छी लय में बल्लेबाजी कर रहा था ठीक वैसे ही जैसे इंग्लैंड की पारी में जॉनी बेयर्सटो कर रहे थे। रहाणे को भी बेयर्सटो की तरह सहारे की जरुरत थी। लेकिन पंड्या वजह कुछ भी नहीं कर सके परिस्थितियों को समझने और उसके मुताबिक बल्लेबाजी करने के वजह पांड्या अपने ही अंदाज़ में बल्लेबाजी करते नज़र आए। पांड्या को टेस्ट टीम में अपनी जिम्मेदारियों को समझना होगा। इंग्लैंड में उछाल भरी पिचें होती हैं यहां आप भारतीय पिचों की तरह आसानी से लम्बे लम्बे शॉट नहीं लगा सकते। इतना ही नहीं पांड्या गेंद से भी अब तक कुछ खास नहीं कर पाए हैं अब तक पांड्या इस सीरीज में मात्र 2 विकेट ही चटका पाए हैं।

वोक्स का शानदार प्रदर्शन
वहीं वोक्स का ये इस सीरीज का पहला मैच था। अपने इस मैच में वोक्स ने सूझबूझ भरी बल्लेबाजी करते हुए अपने टेस्ट करियर का पहला शतक ठोका। इस शतक के साथ वोक्स ने इंग्लैंड को तीसरे दिन की खराब शुरुआत से बाहर निकलते हुए 250 रनों की बढ़त दिलाई। इतना ही नहीं इसी के साथ वोक्स ने एक ऐसा रिकॉर्ड बना दिया है जिसे तोड़ पाना किसी अन्य खिलाड़ी के लिए आसान नहीं होगा। वोक्स ने इंग्लैंड के लिए 7वें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। वोक्स ने 112 रन की पारी खेलते हुए 60 साल पुराना वोद्फी इवेंस का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। इवेंस ने 958 में 58 रन की पारी खेली थी। इस मैच में वोक्स ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए दो विकेट भी चटकाए हैं। वोक्स ने कप्तान कोहली और पांड्या को अपना शिकार बनाया था।

बेयर्सटो शतक से चूके, इंग्लैंड की स्थिति मजबूत
बता दें इस मैच के तीसरे दिन वोक्स और बेयर्सटो के बीच छठे विकेट के लिए हुई 189 रनों की साझेदारी हुई। इस साझेदारी के दम पर इंग्लैंड ने तीसरे दिन खराब शुरुआत से बाहर निकलते हुए भारत के खिलाफ अपनी स्थिति मजबूत कर ली। खराब रोशनी के कारण अंपायरों ने तीसरे दिन का खेल समय से पहले समाप्त करने की घोषणा की। इंग्लैंड ने स्टम्प्स तक छह विकेट के नुकसान पर 357 रन बनाकर भारत पर 250 रनों की मजबूत बढ़त ले ली है। दूसरे दिन इंग्लैंड ने मेहमान टीम को 107 रनों पर ढेर कर दिया था। तीसरे सत्र में वोक्स ने अपना पहला टेस्ट शतक पूरा किया। वोक्स ने पांड्या द्वारा फेंके गए 71वें ओवर की आखिरी गेंद पर तीन रन लेकर सैंकड़ा पूरा किया। हालांकि बेयर्सटो शतक से सात रनों से चूक गए। उन्हें हार्दिक पांड्या ने तीसरे सत्र में 320 के कुल स्कोर पर आउट किया। बेयर्सटो ने अपनी पारी में 144 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौके लगाए। वोक्स ने अभी तक अपनी पारी में 159 गेंदें खेल 18 चौके लगा चुके हैं। उनके साथ सैम कुरैन 24 गेंदों में चार चौके लगाकर 22 रनों पर नाबाद हैं।

Ad Block is Banned