ICC Hall of Fame 2020 का ऐलान, इन तीन दिग्गजों को मिला खिताब

ICC Hall of Fame 2020 की घोषणा Allan Wilkins, Sunil Gavaskar और Mail Jones ने किया। यह अवॉर्ड अब तक 90 खिलाड़ियों को दिया जा चुका है।

By: Mazkoor

Updated: 23 Aug 2020, 05:22 PM IST

नई दिल्ली : इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने 2020 के लिए आईसीसी हॉल ऑफ फेम (ICC Hall of Fame 2020) का ऐलान कर दिया है। इस साल दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर जैक कैलिस (Jaque Kallis) समेत तीन दिग्गज खिलाड़ियों को ये खिताब मिला है। इन तीन दिग्गजों में कैलिस के अलावा पाकिस्तान के मध्यक्रम के बल्लेबाज जहीर अब्बास (zaheer abbas) और ऑस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेटर लीजा स्थेलेकर (Lisa Sthalekar) को चुना गया है।

IPL 2020 से पहले Ricky Ponting करेंगे R Ashwin से चर्चा, मुख्य कोच बोलें- माननी होगी बात

आईसीसी ने ट्वीट कर किया ऐलान

आइसीसी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। ऐलान के मुताबिक आईसीसी हॉल ऑफ फेम के विजेता जैक कैलिस, जहीर अब्बास और लीसा स्थेलेकर हैं। इस सम्मान की घोषणा ऐलन विलकिंस (Allan Wilkins), सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) और मेल जोन्स (Mail Jones) ने किया। बता दें कि आईसीसी हॉल ऑफ फेम अवॉर्ड के शुरू हुए अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है। लेकिन अब तक 90 खिलाड़ियों को यह सम्मान दिया जा चुका है। पिछले साल सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) यह पुरस्कार मिला था। यह सम्मान पुरुष और महिला क्रिकेटरों को इस सम्मान से नवाजा जाता है। आइए नजर डालते हैं हॉल ऑफ फेम पाने वाले खिलाड़ियों की खास बातों पर।

 

टेस्ट और वनडे दोनों में शानदार हैं जैक कैलिस

जैक कैलिस दुनिया के पहले ऐसे हरफनमौला हैं, जिन्होंने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और टेस्ट दोनों में 10-10 हजार रन से अधिक रन बनाए हैं और दोनों फॉर्मेट में 200-200 से ज्यादा विकेट चटका चुके हैं। इसके अलावा वह रिकॉर्ड 23 बार प्लेयर ऑफ द मैच का अवॉर्ड जीत चुके हैं। इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका की तरफ से टेस्ट तथा एकदिवसीय दोनों में उन्होंने सबसे ज्यादा रन बनाए हैं।

Dream11 बना IPL 2020 का आधिकारिक स्पांसर, BCCI ने 2021 और 2022 का नहीं दिया करार

एशियाई ब्रेडमैन के नाम से मशहूर हैं ब्रेडमैन

जहीर अब्बास को एशियाई ब्रैडमैन के नाम से जाना जाता है। वह एशिया के इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 100 से ज्यादा शतक हैं। सबसे खास बात यह कि वह दुनिया के इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने लगातार पांच अंतरराष्ट्रीय मैचों में शतक जड़े हैं। इसी कारण उन्हें रन मशीन की उपाधि मिली थी। जहीर अब्बास को बड़ी पारियां खेलने में महारथ हासिल थी।

 

चार विश्व कप है लीसा के नाम

लीजा स्थेलेकर के नाम चार बार विश्व कप जीतने का रिकॉर्ड है। लीजा दो बार टी-20 और दो बार एकदिवसीय विश्व कप जीत चुकी हैं। वह दुनिया की पहली ऐसी महिला क्रिकेटर हैं, जिन्होंने एकदिवसीय क्रिकेट में 1000 रन और 100 विकेट का डबल पूरा किया था।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned