विराट जीत के बाद कप्तान कोहली ने बुमराह को बताया दुनिया का 'बेस्ट' गेंदबाज

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मेलबर्न पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में मिली जीत की खुशी जाहिर करते हुए टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की जमकर सराहना की।

By: Akashdeep Singh

Published: 30 Dec 2018, 04:25 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में मिली जीत की खुशी जाहिर करते हुए टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की सराहना की। साथ ही कोहली ने उन्हें अपने मुताबिक दुनिया का बेस्ट गेंदबाज भी बताया। कोहली ने कहा कि टेस्ट मैच में बुमराह की गेंदबाजी सबसे शानदार थी। मेलबर्न में खेले गए टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने आस्ट्रेलिया को 137 रनों से हराकर चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त हासिल कर ली है।


कोहली ने जीत का श्रेय गेंदबाजों को दिया-
बुमराह ने इस मैच में भारतीय टीम के लिए सबसे अधिक नौ विकेट लिए और उन्हें मैन ऑफ द मैच के पुरस्कार से भी नवाजा गया। कोहली ने कहा, "अगर एक बार आप 400 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरते हैं, तो मुझे लगता है कि ऐसे में अगर पिच सही है तो गेंदबाजों के लिए यह पर्याप्त होता है। मैं जानता था कि इस लक्ष्य को हासिल करना आस्ट्रेलिया के लिए बेहद मुश्किल होगा। हालांकि, हमारी जीत का श्रेय गेंदबाजों को जाता है। मुझे लगता है कि उनका प्रदर्शन शानदार रहा है खासकर जसप्रीत का। उन्होंने जिस प्रकार से टेस्ट मैच में गेंदबाजी की है, वह शानदार है।"


टीम मैनेजमेंट ने रखा बुमराह का ध्यान-
कप्तान ने कहा, "पर्थ टेस्ट मैच में भी उनकी गेंदबाजी अच्छी थी लेकिन उन्हें विकटें नहीं मिली थी। प्रबंधन ने उन्हें इसके बावजूद शांत रहने और धैर्य रखने की सलाह दी। अब उनके अच्छे प्रदर्शन के दम पर हमने मेलबर्न में टेस्ट मैच जीता है। मुझे एक कप्तान के तौर पर गर्व महसूस हो रहा है।"

दुनिया के बेस्ट गेंदबाज हैं बुमराह-
कप्तान कोहली ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि वह इस मैच में जिन दो खिलाड़ियों को अधिक श्रेय देना चाहते हैं वह मयंक अग्रवाल और जसप्रीत बुमराह हैं। उन्होंने कहा बुमराह पिछले एक साल से टेस्ट क्रिकेट खेल रहे हैं और वह उनके हिसाब से इस वक्त दुनिया के बेस्ट गेंदबाज हैं। कोहली ने बुमराह की तारीफ में यह भी कहा कि वह वाइट बॉल क्रिकेट में शुरुआत के ओवरों में रन नहीं खर्चते और विकेट चटकाते हैं और अंत के ओवरों में भी सभी गेंदें बिलकुल सटीक रखते हैं। उनकी गेंदबाजी देखकर हमें लगता था कि वह टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए तैयारी कर रहे हैं। साथ ही कोहली ने कहा कि बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट में आने से पहले सीमित ओवरों में गजब की ऊर्जा और फिटनेस लेवल दिखाया जिससे प्रभावित होकर हमने उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में मौका देने का निर्णय लिया।


कोहली भी बुमराह से कहते हैं खौफ-
कोहली ने बुमराह के ताकत के बारे में बोलते हुए कहा कि "उनकी मानसिकता उन्हें दुनिया में किसी भी अन्य गेंदबाज से अलग बनाती है। वह पिच देखकर यह नहीं सोचते कि इसपर विकेट निकालना मुश्किल होगा बल्कि वह विकेट लेने के बारे में सोचते हैं।" कोहली ने आगे कहा कि बुमराह मानसिक रूप से बहुत मजबूत हैं और इसी वजह से वह इतने सफल रहे हैं। उन्होंने बुमराह के बारे में आगे कहा कि वह दुनिया भर के बल्लेबाजों कि लिए खतरे की घंटी हैं और अगर पर्थ जैसी पिच हो तो मैं भी उनका सामना कभी नहीं करना चाहूंगा क्योंकि जब वह मूड में होते हैं तो वह बहुत घातक हो जाते हैं।

Show More
Akashdeep Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned