IND vs WI: भारत ने वेस्टइंडीज को 10 विकेट से दी मात, सीरीज पर 2-0 से जमाया कब्जा

IND vs WI: भारत ने वेस्टइंडीज को 10 विकेट से दी मात, सीरीज पर 2-0 से जमाया कब्जा

Akashdeep Singh | Publish: Oct, 14 2018 10:04:45 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 05:43:16 PM (IST) क्रिकेट

भारत और वेस्टइंडीज के बीच हैदराबाद में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच को भारत ने 10 विकेट के अंतर से अपने नाम कर लिया है।

नई दिल्ली। भारत और वेस्टइंडीज के बीच हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट को भारतीय टीम ने 10 विकेट के अंतर से अपने नाम कर लिया है। इस जीत के साथ ही भारत ने दो मैचों की इस टेस्ट सीरीज को 2-0 से अपने नाम कर लिया। चौथी पारी में भारत को मिले 72 रनों के लक्ष्य को भारतीय टीम ने बिना कोई विकेट गंवाए आसानी से हासिल कर लिया। सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल 33 और पृथ्वी शॉ 33 रन बना कर नाबाद रहे। टेस्ट सीरीज समाप्त होने के बाद अब इन दोनों देशों के बीच पांच वनडे मैचों की सीरीज खेली जाएगी।

तीनों क्षेत्रों फिसड्डी रही इंडीज की टीम-
राजकोट टेस्ट की ही तरह हैदरबाद में भी वेस्टइंडीज की टीम बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण में भारत के मुकाबले फिसड्डी साबित हुई। टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करते हुए इंडीज ने पहली पारी में 311 रन बनाए। जिसके जवाब में भारत ने पहली पारी में 367 रन बनाए। दूसरी पारी में इंडीज की टीम मात्र 127 रन बना सकी। जिसके बाद भारत को जीत के मिले 72 रनों के लक्ष्य को सलामी बल्लेबाजों ने आसानी से हासिल कर लिया।

उमेश ने झटके 10 विकेट-

चाय काल पर जाने के समय 6 विकेट के नुकसान पर 76 बनाने वाली इंडीज की टीम अब सात विकेट के नुकसान पर 109 रनों की पर खेल रही है। तीसरे सत्र में भारत को पहली सफलता रवींद्र जडेजा ने दिलाई। जडेजा ने कप्तान जेसन होल्डर को 19 के निजी स्कोर पर आउट किया। इसके बाद जडेजा ने एक और अश्विन ने एक और सफलता हासिल की। वेस्टइंडीज के अंतिम बल्लेबाज को उमेश ने बोल्ड किया। इसी के साथ उमेश ने इस मैच में अपने 10 विकेट भी पूरे किए।

दूसरी पारी में इंडीज की शुरुआत रही खराब-

पहली पारी के आधार पर 56 रनों से पीछे रही इंडीज की बल्लेबाजी दूसरी पारी में काफी खराब रही। इंडीज के दोनों सलामी बल्लेबाज बिना कोई रन बनाए आउट हुए। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे शाई होप और शिमरॉन हेटमाएर ने जरूर कुछ देर टिक कर बल्लेबाजी की लेकिन कुलदीप ने 13 वें ओवर की आखिरी गेंद पर शिमरॉन हेटमाएर को 17 रनों पर पुजारा के द्वारा कैच आउट करवा वापस पवेलियन भेजा। इसके बाद रवींद्र जडेजा ने शाई हॉप को 28 के निजी स्कोर पर आउट करते हुए इंडीज को चौथा झटका दिया।

रोस्टन चेस सस्ते में निपटे-

पहली पारी में शतक लगाने वाले रोस्टन चेस के अच्छी बल्लेबाजी की उम्मीद थी। लेकिन चेस इस पारी में नाकाम साबित हुए। चेस को उमेश ने 6 के स्कोर पर आउट किया। उमेश की घातक गेंदबाजी जारी रही। उमेश ने विकेटकीपर बल्लेबाज शेन डोविच को बिना खाता खोले आउट कर भारत को छठी सफलता दिलाई।

भारत की शुरुआत रही थी खराब-
312 रनों का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। लोकेश राहुल मात्र 4 रन बना कर आउट हुए। हालांकि दूसरे सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने इस मैच में भी बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 70 रनों की पारी खेली। इसके बाद चेतेश्वर पुजारा 10 रन बनाकर शेनॉन गेब्रियल की गेंद पर आउट हुए। पृथ्वी शॉ वार्रीकन की गेंद पर आउट हुए थे। आसानी से बल्लेबाजी कर रहे विराट कोहली को जेसन होल्डर ने 45 के स्कोर पर एलबीडब्लू कर चलता किया।

रहाणे और पंत की बेहतरीन साझेदारी-
160 पर चार विकेट खोने के बाद भारत दवाब में दिख रहा था। लेकिन अजिंक्य रहाणे और ऋषभ पंत ने पांचवें विकेट के 146 रनों की साझेदारी निभाते हुए भारत को संकट से उबार दिया। दूसरे दिन का खेल समाप्त होने के समय रहाणे 75 और पंत 85 के निजी स्कोर पर थे। उम्मीद है कि तीसरे दिन जब ये दोनों बल्लेबाजी को उतरेंगे तो अपना शतक पूरा करेंगे।

उमेश की घातक गेंदबाजी-
भारतीय गेंदबाजी के दौरान उमेश यादव ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए वेस्टइंडीज को दूसरे दिन अपने स्कोर में ज्यादा इजाफा नहीं करने दिया। मेहमान टीम ने दिन की शुरुआत सात विकेट के नुकसान पर 295 रनों के साथ की थी। टीम अपने खाते में सिर्फ 16 रन ही जोड़ पाई। तीनों विकेट उमेश यादव ने लिए। उन्होंने पहली पारी में कुल छह विकेट अपने नाम किए। यह उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। उमेश ने दिन के पहले ओवर में ही देवेंद्र बिशू (2) को पवेलियन भेजा। अगले ओवर में रोस्टन चेज (106) ने अपने टेस्ट करियर का चौथा शतक पूरा किया।

दूसरे दिन विंडीज की पारी-
वेस्टइंडीज ने दिन की शुरुआत सात विकेट के नुकसान पर 295 रनों के साथ की थी। दूसरे दिन उसके तीनों विकेट उमेश ने ही लिए। चेज अपने टेस्ट करियर के चौथे शतक से सिर्फ दो रन दूर थे। उन्होंने दिन के पहले ओवर में एक रन लिया। इसी ओवर में उमेश ने देवेंद्र बिशू (2) को पवेलियन भेज दिया। अगले ओवर में चेज ने अपना शतक पूरा किया लेकिन इसके बाद वाले ओवर में वह उमेश की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने अपनी पारी में 189 गेंदें खेली और आठ चौकों के अलावा एक six लगाया। अगली गेंद पर उमेश ने शेनन गेब्रिएल को विकेट के पीछे ऋषभ पंत के हाथों कैच करा विंडीज की पारी का अंत किया। उमेश ने दो लगातार विकेट लिए हैं। वह अब अगली पारी में हैट्रिक पर होंगे।उनके अलावा भारत के लिए कुलदीप यादव ने तीन, रविचंद्रन अश्विन ने एक विकेट लिया।

 

पहले दिन रोस्टन ने विंडीज को संभाला-
इस मुकाबले में इंडीज की ओर से रोस्टन चेस ने बेहतीरन पारी खेली। एक समय 182 के स्कोर पर छह विकेट गंवा चुकी इंडीज की पारी को रोस्टन और कप्तान होल्डर ने संभाला। इन दोनों ने सातवें विकेट के लिए 104 रनों की साझेदारी की। कप्तान जेसन होल्डर 52 रन बना कर उमेश के शिकार बने। लेकिन दुसरे छोर से रोस्टन की बल्लेबाजी दिन का खेल खत्म होने तक जारी रही। रोस्टन 98 रन बना कर नाबाद पवेलियन वापस लौटे। जबकि दूसरे छोर पर देवेंद्र विशु 2 के निजी स्कोर पर नाबाद पवेलियन गए।


विंडीज़ की प्लेइंग XI: क्रेग ब्रैथवाइट, कियरन पॉवेल, शाई होप, शिमरॉन हेटमाएर, सुनील एम्ब्रिस, रोस्टन चेस, शेन डोविच (विकेटकीपर), जेसन होल्डर (कप्तान), देवेंद्र बिशू, जोमेल वार्रिकैन, शैनन गेब्रियल


भारत की प्लेइंग XI: पृथ्वी शॉ, लोकेश राहुल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, कुलदीप यादव, उमेश यादव, शारदुल ठाकुर

Ad Block is Banned