ऑस्ट्रेलिया में सट्‌टेबाजों का सरगना है भारतीय, BCCI ने कर रखा है ब्लैकलिस्ट

BCCI के ACU हेड अजीत सिंह ने कहा कि रविंदर दांडीवाल बोर्ड की राडार पर भी है। भारतीय बोर्ड ने उसे ब्लैकलिस्ट कर रखा है।

By: Mazkoor

Updated: 29 Jun 2020, 02:08 PM IST

नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलियाई पुलिस ने अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों और मैचों में फिक्सिंग (Match Fixing) का रैकेट चलाने वाले ग्रुप की पहचान की है। इस रैकेट का सरगना रविंदर दांडीवाल (Ravinder Dandiwal) नाम का भारतीय है। बता दें कि रविंदर दांडीवाल मूल रूप से चंडीगढ़ के पास स्थित मोहाली का रहने वाला है। पिछले कई सालों से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की भी उस पर नजर है। एक ऑस्ट्रेलियाई मीडिया में छपी खबर में पुलिस के हवाले से रविंदर दांडीवाल को मैच फिक्सिंग का मुख्य सरगना बताया है। वह सट्टा लगने के बाद टेनिस (Fixing in Tennis) में कम रैंकिंग वाले खिलाड़ियों को मैच छोड़ने के लिए कहता था।

अब एशिया पहुंचा क्रिकेट, श्रीलंका में शुरू हुआ T20 League, जानें पूरा कार्यक्रम और कहां देख सकते हैं मैच

दांडीवाल पर अभी आरोप तय नहीं

ऑस्ट्रेलिया की विक्टोरिया पुलिस ने दांडीवाल पर अभी कोई आरोप तय नहीं किया है। ऑस्ट्रेलिया पुलिस ने रविंदर के अलावा मेलबर्न में रहने वाले भारतीय मूल के दो अन्य शख्स राजेश कुमार और हरसिमरत सिंह को मेलबर्न कोर्ट में पेश किया गया था। पुलिस का आरोप है कि इन दोनों ने गैर-कानूनी ढंग से फिक्सिंग कर 3 लाख 30 हजार ऑस्ट्रेलियाई डॉलर जीते हैं। विक्टोरिया पुलिस ने इन दोनों पर 2018 में खेले गए कम से कम दो टेनिस टूर्नामेंट (Tennis Tournament) भ्रष्टाचार का आरोप दायर किया है। ये टूर्नामेंट क्रमश: ब्राजील और इजिप्ट में खेले गए थे। राजीव और हरसिमरत पर यह आरोप है कि उन्हें दांडीवाल से यह सूचना मिली थी कि एक या इससे अधिक खिलाड़ियों ने दांडीवाल के साथ मिलकर मैच का परिणाम प्रभावित करने की हामी भरी थी।

Vikram Rathore का खुलासा, मैनेजमेंट नहीं सपोर्ट करता तो Rishabh Pant नहीं बना पाते टीम में जगह

हरियाणा में करवा चुका है क्रिकेट लीग

द इंडियन एक्सप्रेस ने इस संबंध में बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट (ACU) के मुखिया अजीत सिंह (Ajeet Singh) से दांडीवाल के संबंध में बात की थी, तब पता चला कि बीसीसीआई की राडार पर भी वह है। बोर्ड ने उसे ब्लैकलिस्ट कर रखा है। अजीत सिंह ने बताया कि दांडीवाल मध्य एशिया में खूब सक्रिय रहा है। वह क्रिकेट लीग (Cricket League) का आयोजन भी करवाता है। एक बार उसने हरियाणा में एक निजी लीग का आयोजन करवाया था, तब बीसीसीआई ने अपने सभी पंजीकृत खिलाड़ियों को एडवाइजरी जारी कर दी थी कि उन्हें इस लीग में भाग नहीं लेना है। एसीयू के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि हम अपने घरेलू और राष्ट्रीय खिलाड़ियों के शैक्षिक सत्र में इस शख्स से सावधान रहने के बारे में हमेशा बताते हैं।

Show More
Mazkoor Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned