IPL 2018: कोहली एंड कंपनी के सामने 'विराट' चुनौती, पार पाने के लिए करना होगा खास

आईपीएल के 51वें मैच में गुरुवार को रॉयल चैंलेजर बेंगलोर के सामने सनराइजर्स हैदराबाद की चुनौती होगी। इस मैच में आरसीबी को जीत जरुरत है।

By:

Published: 16 May 2018, 08:26 PM IST

नई दिल्ली। अपनी प्लेऑफ की उम्मीदों को अभी तक किसी तरह जिंदा रखने में कामयाब रहने वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर गुरुवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के निर्णायक मुकाबले में एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में सनराइजर्स हैदरबाद के खिलाफ मैदान पर उतरेगी। बेंगलोर ने दिल्ली डेयरडेविल्स और किंग्स इलेवन पंजाब को मात देकर अपने प्लेऑफ में जाने की संभावानाओं के किसी तरह जिंदा रखा है। लेकिन कल आरसीबी का सामना उस टीम से है जिसे हराना इस सीजन में सभी टीमों के लिए अभी तक टेढ़ी खीर साबित हुआ है। आरसीबी को इस मैच में जीत के लिए न केवल सामूहिक प्रदर्शन की जरुरत होगी, बल्कि एक योजना के साथ टीम को खेलना होगा।

प्वाइंट टेबल में ये है दोनों टीमों का हाल-
इन दोनों के बीच होने वाला यह मैच आईपीएल का 51वां मैच होगा। अब तक खेले जा चुके 50 मैचों के बाद हैदराबाद प्वाइंट टेबल में शीर्ष पर जबकि आरसीबी अंतिम से दूसरे पायदान पर है। हैदराबाद ने 12 मैचों में से नौ में जीत हासिल की है। वह 18 अंकों के साथ पहले स्थान पर है। जबकि बेंगलोर 12 मैचों में सात हार के साथ सेकेंड लास्ट नंबर पर है।

कोहली और डिविलियर्स पर निर्भरता-
टीम का प्रदर्शन हालांकि कुछ खास नहीं रहा है और बल्लेबाजी कप्तान विराट कोहली और अब्राहम डिविलियर्स के जिम्मे ही है। कोई और बल्लेबाज अभी तक इन दोनों की छांव से निकल कर टीम के लिए बड़ा योगदान नहीं दे पाया है। कोहली ने 12 मैचों में 514 रन बनाए हैं जबकि डिविलियर्स के हिस्से 358 रन हैं। ऐसा नहीं है कि टीम में अच्छे बल्लेबाजों की कमी हो। ब्रेंडन मैक्कलम, मोइन अली जैसे अच्छे बल्लेबाज टीम के पास हैं लेकिन बल्ले से नाकाम ही रहे हैं।

आरसीबी का मध्यक्रम कमजोर-
मनदीप सिंह भी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं। कोरी एंडरसन, कोलिन डी ग्रांडहोम ने जरूर निचले क्रम में टीम को कुछ हद तक संभाला है। टीम की गेंदबाजी ने पिछले कुछ मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है। उमेश यादव ने जिम्मेदारी लेते हुए टीम का भार संभाला तो वहीं मोहम्मद सिराज ने उनका बखूबी साथ दिया। स्पिन विभाग में युजवेंद्र चहल और वॉशिंगटन संदुर भी टीम के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। बेंगलोर को जीत के लिए एकजुट होकर प्रदर्शन करने की जरूरत है।

धवन और विलियमसन पर टिकी है बल्लेबाजी-
वहीं अगर हैदराबाद की बात की जाए तो टीम बल्लेबाजी में अपने कप्तान केन विलियमसन के जिम्मे है। उन्होंने अभी तक कुल 544 रन बनाए हैं। टूर्नामेंट से आगे बढ़ते हुए सलामी बल्लेबाज शिखर धवन का बल्ला भी बोलने लगा है। उन्होंने अभी तक कुल 369 रन बनाए हैं। टीम की कोशिश एक और जीत हासिल कर अपने पहले स्थान को कायम रखने की होगी। बल्लेबाजी में धवन और विलियमसन के अलावा कोई और आगे नहीं आ पाया है।

गेंदबाजी है सनराइजर्स की जान -
युसूफ पठान, मनीष पांडे, शाकिब अल हसन अपने प्रदर्शन में निरंतरता रखने में सफल नहीं रहे हैं। टीम की ताकत उसकी गेंदबाजी है और इसी के दम पर वह लगातार जीत के रास्ते पर बनी हुई है। राशिद खान, शाकिब, भुवनेश्वर कुमार, संदीप शर्मा जैसे गेंदबाजों के रहते टीम ने छोटे से छोटे से लक्ष्य का बचाव किया है।

संभावित टीम इस प्रकार है-
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर : विराट कोहली (कप्तान), अब्राहम डिविलियर्स, सरफराज खान, क्रिस वोक्स, युजवेंद्र चहल, ब्रेंडन मैक्कलम, वॉशिंगटन सुंदर, नवदीप सैनी, क्विंटन डी कॉक, मनदीप सिंह, कुलवंत खेजरोलिया, कोलिन डी ग्रांडहोमे, उमेश यादव, मोइन अली, मनन वोहरा, अनिकेत चौधरी, मुरुगुन अश्विन, मनदीप सिंह, पवन नेगी, मोहम्मद सिराज, पार्थिव पटेल , अनिरुद्ध जोशी, पवन देशपांडे, टिम साउदी, कोरी एंडरसन।

सनराइजर्स हैदराबाद : केन विलियमसन (कप्तान), भुवनेश्वर कुमार, शिखर धवन, शाकिब अल-हसन, मनीष पांडे, कार्लोस ब्रैथवेट, युसुफ पठान, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), राशिद खान, रिक्की भुई, दीपक हुड्डा, सिद्धार्थ कौल, टी. नटराजन, मोहम्मद नबी, बासिल थम्पी, के. खलील अहमद, संदीप शर्मा, सचिन बेबी, क्रिस जोर्डा, तन्मय अग्रवाल, श्रीवत्स गोस्वामी, बिपुल शर्मा, मेहदी हसन और एलेक्स हेल्स।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned