Sourav Ganguly के उलट Irfan Pathan बोले, दादा टॉस के लिए देर से जाने के ढूंढ़ते थे बहाने

Irfan Pathan ने Sourav Ganguly की कप्तानी में ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। अब उन्होंने बताया, कैसे टॉस के लिए दादा हो जाते थे लेट।

By: Mazkoor

Updated: 15 Jul 2020, 01:33 PM IST

नई दिल्‍ली : भारतीय क्रिकेट इतिहास (Indian Cricket History) में सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) का नाम सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में लिया जाता है। लेकिन इसके साथ ही उस वक्त की कई ऐसी बातें हैं, जो दादा की याद दिलाती रहती हैं। जैसे गांगुली से पहले टीम इंडिया (Team India) के खिलाड़ी जेंटलमैन हुआ करते थे। दादा ने ही उन्हे आक्रामक होकर खेलना सिखाया। इसका एक उदाहरण तो आज भी लोगों की जेहन में ताजा है। लॉर्ड्स की बालकनी से अपना टी-शर्ट उतारकर दादा का हवा में लहराना आदि।

टॉस के लिए करवाते थे विपक्षी कप्तानों को इंतजार

इतना ही नहीं, सौरव गांगुली के कई समकालीन कप्तानों का आरोप है कि दादा टॉस के लिए हमेशा देर से जाते थे। तत्कालीन ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ (Steve Waugh) और इंग्लैंड के कप्तान नासिर हुसैन (Nasser Husain) भी गांगुली पर यह आरोप लगा चुके हैं। कुछ दिनों पहले ही नासिर हुसैन ने गांगुली को लेकर यहां तक कह दिया कि वह उनसे नफरत करते थे, क्‍योंकि उन्‍हें टॉस के लिए इंतजार करना पड़ता था। हालांकि गांगुली ने हाल में ही कहा था कि टॉस के लिए उन्होंने वॉ को जानबूझकर इंतजार नहीं कराया था। लेकिन इरफान पठान (Irfan Pathan) का कहना है कि वह टॉस के लिए देर होने के लिए बहाने ढूंढ़ते रहते थे।

ICC Rankings : Jason Holder ने किया कमाल, 20 साल से विंडीज का कोई खिलाड़ी नहीं कर सका था ऐसा

लेट होने के बावजूद दबाव में नहीं आते थे दादा

टीम इंडिया के पूर्व हरफनमौला इरफान पठान ने सौरव गांगुली की कप्तानी में ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। उन्होंने एक क्रिकेट शो में बताया कि जब वह अपने पहले ऑस्‍ट्रेलियाई दौरे पर गए थे, तब गांगुली ने ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान स्‍टीव वॉ को काफी इंतजार करवाया था। वह घटना उन्हें आज भी याद है। वह उस समय ड्रेसिंग रूम में थे। मैंनेजर ने गांगुली को टॉस के लिए याद भी दिलाया, मगर इसके बावजूद दादा समय पर नहीं गए।

सचिन तेंदुलकर ने भी कहा था, जाना चाहिए

इरफान पठान सिडनी टेस्‍ट को याद करते हुए कहा कि सौरव गांगुली को टॉस के लिए जाने के लिए सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने भी कहा था। सचिन ने कहा था कि दादा टॉस का समय हो गया है। आपको जाना चाहिए। मगर दादा अपने जूते, स्‍वेटर, कैप को सही करके समय निकालने लगे। इरफान पठान ने कहा कि जब कोई व्‍यक्ति देर होता है तो दबाव उसके चेहरे पर दिखने लगता है, मगर दादा कभी जल्‍दी में नहीं होते थे।

Jermaine Blackwood को शतक से चूकने का नहीं है मलाल, जीत के वक्त क्रीज पर न होने का अफसोस

गांगुली ने कहा था, गलती से हुई थी देर

बता दें कि इसी टेस्ट को याद करते हुए सौरव गांगुली ने भी हाल ही में बात की थी। गांगुली ने कहा था कि उन्होंने जानबूझ कर स्टीव वॉ को इंतजार नहीं करवाया था। ड्रेसिंग रूम में वह अपना ब्‍लेजर भूल गए थे। उन्होंने इस बातचीत में कहा था कि बतौर कप्‍तान यह उनकी पहली बड़ी सीरीज थी और वह नर्वस थे।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned