Wasim Jaffer ने Prithvi Shaw को चेताया, बोले- व्यक्ति के तौर पर खुद ही सीखना होगा

टेस्ट क्रिकेट में शानदार पदार्पण के बाद Prithvi Shaw के करियर ने जिस तरह से मोड़ लिया है, Wasim Jaffer उससे बेहद चिंतित हैं।

By: Mazkoor

Updated: 27 May 2020, 08:12 PM IST

मुंबई : मुंबई के युवा क्रिकेटर पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) को भारत का उभरता सबसे ज्यादा प्रतिभाशाली बल्लेबाज माना जा रहा है। जब वह स्कूली क्रिकेट में थे, तब से उनकी चर्चा हो रही है और कुछ तो उनकी तुलना क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) से भी करते हैं। कम उम्र में इतनी चर्चा मिल जाने के बाद कई बार खिलाड़ी के लिए इसे संभालना मुश्किल हो जाता है। जिस तरह हाल के कुछ दिनों में पृथ्वी शॉ के करियर ने जिस तरह से मोड़ लिया है, उससे यह चिंता होना स्वाभाविक है। इसी कारण से टीम इंडिया (Team India) के दिग्गज बाएं हाथ के पूर्व सलामी बल्लेबाज और घरेलू क्रिकेट के बादशाह वसीम जाफर (Wasim Jaffer) चिंतित हैं।

ICC ने BCCI को दी धमकी, वह भारत से छीन सकता है T20 World Cup

शानदार शुरुआत के बाद बिगड़ी लय

20 साल के पृथ्वी शॉ ने टेस्ट क्रिकेट में शुरुआत तो शानदार की। पहले ही टेस्ट में शतक जड़ा। इसके बाद पहले एड़ी की चोट के कारण बाहर रहे और उसके बाद डोपिंग मामले के कारण आठ महीने का प्रतिबंध काटा। प्रतिबंध से वापसी के बाद उन्हें कीवी दौरे पर एकदिवसीय और टेस्ट सीरीज में मौका मिला, लेकिन वह अपनी पहले वाली चमक नहीं दिखा पाए।

जाफर बोले, शॉ को होना होगा अनुशासित

वसीम जाफर ने कहा कि शॉ में एक खास प्रतिभा है और वह उसकी एड़ी की चोट और फिर प्रतिबंधित दवा सेवन मामले के कारण करियर में आए मोड़ से काफी निराश हैं। जाफर ने कहा कि यह सब देख कर उन्हें चिंता हो रही है, क्योंकि पृथ्वी बहुत प्रतिभावान खिलाड़ी है, लेकिन अगर वह कुछ बड़ा हासिल करना चाहता है तो उसे अनुशासनित होने की जरूरत है। जाफर ने कहा कि पृथ्वी टीम इंडिया में खिलाड़ियों के ऐसे समूह के बीच है, जहां उसके सामने विराट कोहली (Virat Kohli), रोहित शर्मा (Rohit Sharma)और शिखर धवन (Shikhar Dhawan) जैसे रोल मॉडल है।

Bowling Coach ने की भविष्यवाणी, अभी बना रहेगा भारतीय तेज गेंदबाजों का जलवा

दबाव से निबटना होगा

वसीम जाफर ने कहा कि इस वक्त टीम इंडिया में काफी प्रतिद्वंद्विता है। इस बीच उसने कई टेस्ट मैच मिस कर दिए। उन्हें ऐसा करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि उनके लिए यह अपनी पूरी क्षमता के खेलने का समय है। जाफर ने कहा कि शॉ को किसी और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी की तरह दबाव से निपटने के लिए मानसिक रूप से मजबूत होना होगा। उन्होंने कहा कि जब भी आप शीर्ष स्तर पर प्रदर्शन करते हैं, मीडिया और लोग आपकी बहुत तारीफ करते हैं, लेकिन एक व्यक्ति के तौर पर सीखना आपकी जिम्मेदारी है। विराट कोहली का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें देखिए वह हमेशा जमीन से जुड़ा रहता है। इसके अलावा उन्होंने एक और अहम बात कही कि मुंबई क्रिकेट सर्किट से उभरते हर खिलाड़ी की तुलना सचिन तेंदुलकर से जाने लगती है। आखिरी में सारी बातें प्रदर्शन टिक जाती है।

Show More
Mazkoor Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned