कोहली ने की लाबुशाने की जमकर तारीफ, कहा-उनमें सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने का गुण

टीम इंडिया के कप्तान कोहली ने कहा कि लाबुशाने के पास एक निरंतर प्रदर्शन करने वाला खिलाड़ी और विश्व का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने की मानसिकता है।

Mazkoor Alam

January, 2001:47 PM

बेंगलूरु : भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ऑस्ट्रेलियाई युवा बल्लेबाज मार्नस लाबुशाने के मुरीद हो गए से लगते हैं। उन्होंने इस बल्लेबाज की जमकर तारीफ की। कोहली ने कहा कि लाबुशाने के पास सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर बनने के सारे गुण मौजूद हैं। बता दें कि लाबुशाने ने इसी दौरे पर वनडे में डेब्यू किया है। इस सीरीज के तीन वनडे की दो पारियों में एक अर्धशतक की मदद से उन्होंने 50 की औसत से 100 रन बनाए। हालांकि भारत ने इस सीरीज में 2-1 से जीत हासिल की, लेकिन इस दौरान कोहली जरूर लाबुशाने के मुरीद बन बैठे।

अगले सीजन से फुल टाइम कोचिंग में नजर आ सकते हैं वसीम जाफर, ले सकते हैं संन्यास

लाबुशाने के पास सबकुछ है

कप्तान विराट कोहली ने कहा कि लाबुशाने अच्छा खिलाड़ी है। हम बाहर बात कर रहे हैं, लेकिन उसे अच्छे से पता है कि उसे क्या करना है। उसके पास सही बॉडी लैंग्वेज है। वह विकेटों के बीच तेजी से भागता है। इसके अलावा क्षेत्ररक्षण करते हुए गेंद को हमेशा अपनी तरफ चाहता है। निश्चय ही उसमें सब कुछ है। कोहली ने कहा कि लाबुशाने के पास एक निरंतर प्रदर्शन करने वाला खिलाड़ी बनने और विश्व का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनने की मानसिकता है। विराट ने कहा कि उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में ये करके दिखाया है। अब वनडे क्रिकेट में भी करके दिखाया और उन्हें यकीन है कि अगर उन्हें टी-20 क्रिकेट में मौका मिलेगा तो वहां भी यही स्पष्टता दिखाएगा।

लाबुशाने ले रहा है अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का आनंद

टीम इंडिया के कप्तान ने कहा कि लाबुशाने पूर्ण टीम मैन लगता है। उनके जैसे खिलाड़ी के खिलाफ आपको स्पष्ट रहना पड़ेगा और पीछे नहीं हटना होगा, क्योंकि ऐसे खिलाड़ी जिनके पास इतनी स्पष्टता होती है, वह गेंदबाजों के जरा से चूकने पर उन पर दबाव डाल सकता है। कोहली ने कहा कि बात बस इतनी सी है कि पहले किसका धैर्य टूटता है। अगर आप उसे जरा सी छूट देंगे तो वह खेल को आपसे दूर ले जाएगा। वह हमेशा ही ऊर्जा से भरा रहता है। कोहली ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि उन्हें इतनी ऊर्जा कैसे मिलती है। वह मैदान पर खरगोश की तरह दौड़ता-भागता रहता है। इसे देखकर लगता है कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट का आनंद ले रहा है।

टीम इंडिया से बाहर हो जाने के बाद गहरे अवसाद में चले गए थे प्रवीण कुमार, दे देना चाहते थे जान

संयोग से मिला था मौका

मार्नस लाबुशाने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के पहले कनकशन सबस्टीट्यूट के तौर पर डेब्यू करने वाले खिलाड़ी हैं। उन्हें स्टीव स्मिथ के घायल हो जाने के बाद बतौर सब्टीट्यूट खिलाड़ी मौका मिला था। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के घरेलू सीजन में टेस्ट में 112 की शानदार औसत से 896 रन बनाए। मार्नस ने यहीं फॉर्म वनडे क्रिकेट में भी बरकरार रखा। भारत दौरे पर उन्होंने क्रिकेट प्रशंसकों के साथ समीक्षकों को भी प्रभावित किया।

Show More
Mazkoor Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned