राहुल और ऋषभ की बल्लेबाजी में बने इतने रिकॉर्ड कि गिनने को उगलियां पड़ जाएगी कम

राहुल और ऋषभ की बल्लेबाजी में बने इतने रिकॉर्ड कि गिनने को उगलियां पड़ जाएगी कम

Prabhanshu Ranjan | Publish: Sep, 11 2018 10:56:07 PM (IST) क्रिकेट

भारत को बेशक हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन लोकेश राहुल और ऋषभ पंत ने मंगलवार को जिस तरह की बल्लेबाजी की, उससे कई बड़े रिकॉर्ड बने।

नई दिल्ली। चार साल के बाद पर क्रिकेट के जनक इंग्लैंड के साथ दो-दो हाथ करने गई भारतीय टीम को निराशा हाथ लगी। टी-20, वनडे और टेस्ट क्रिकेट के तीनों प्रारुपों में इंग्लैंड के साथ हुई सीरीज में भारत को केवल टी-20 सीरीज में जीत मिली। वनडे और टेस्ट में टीम इंडिया ने कड़ी टक्कर दी। लेकिन जीत हासिल करने में नाकाम रही। इस महत्वपूर्ण दौरे के अंतिम दिन लंदन टेस्ट में भारत को 118 रनों की हार मिली। लेकिन इस हार के बाद भी भारत के दो बल्लेबाज लोकेश राहुल और ऋषभ पंत ने जिस तरीके की बल्लेबाजी की, उसने क्रिकेट प्रेमियों का दिल जीत लिया। इन दोनों ने मंगलवार को जैसी पारियां खेली, उसमें कई रिकॉर्ड टूटे, कई नए बने। एक नजर उन रिकॉर्डों पर...

#1. इंग्लैंड में छठे विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड कपिल देव और सैयद किरमानी के नाम था। इन दोनों ने साल 1982 में 136 रनों की पार्टनरशिप की थी। जिसे आज राहुल और पंत ने तोड़ दिया। राहुल और पंत के बीच 204 रनों की साझेदारी हुई।

#2. बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज भारत की ओर से इंग्लैंड में सर्वाधिक रन बनाने का महेंद्र सिंह धोनी के नाम था। धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ 92 रन बनाए थे। जिसे ऋषभ पंत ने तोड़ दिया। पंत ने लंदन टेस्ट में 114 रनों की पारी खेली।

यह भी पढ़े - इंग्लैंड ने जीता सीरीज, राहुल और पंत ने दिल

#3. भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट में छठे विकेट की सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड आर अश्विन और करुण नायर के नाम था। इन दोनों ने 181 रनों की साझेदारी की थी। इस रिकॉर्ड को राहुल और पंत ने लंदन में तोड़ दिया।

root

#4. लंदन में लगाए गए शतक के साथ ही लोकेश राहुल भारत के पहले ऐसे विकेटकीपर बल्लेबाज बने, जिन्होंने किसी टेस्ट मैच की चौथी पारी में शतक लगाया हो। ऋषभ पंत ने 114 रनों की पारी खेली।

#5. गेंद को हवाईमार्ग से सीमापार (सिक्स) के जरिए अपना पहला टेस्ट शतक पूरा करने के मामले में ऋषभ पंत भारत के चौथे क्रिकेटर बने। पंत से पहले कपिल देव, इरफान पठान और हरभजन सिंह ने ऐसा किया था।

यह भी पढ़े - हनुमा विहारी ने डेब्यू मैच में भी तोड़ा 25 साल पुराना रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले दूसरे भारतीय

#6. चौथी पारी में सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बनाने के मामले में लोकेश राहुल ने दिलीप वेंगसेरकर(146), विराट कोहली(141) और सचिन तेंदुलकर(136) के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। वे अब चौथी पारी में सबसे बड़ा स्कोर बनाने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज बन गए। इस सूची में पहले नंबर पर सुनील गावस्कर हैं। गावस्कर ने 221 रनों की पारी खेली थी।

#7. ऋषभ ने अपनी चौथी ही पारी में पहला टेस्ट शतक लगाया। वो ऐसा करने वाले भारत के पांचवें बल्लेबाज बने। उनसे पहले अब्बास अली बेग, सचिन तेंदुलकर, अजीत अगरकर और वसीम जाफर ने ये कारनामा किया था।

rahul

#8. बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज सबसे कम उम्र में टेस्ट शतक लगाने के मामले में ऋषभ अब दूसरे भारतीय क्रिकेटर बन गए हैं। इस लिस्ट में पहले स्थान पर अजय रात्रा है, जिन्होंने अपना पहला टेस्ट शतक 20 साल 150 दिन की उम्र में लगाया था। जबकि पंत का ये शतक 20 साल 342 दिन की उम्र में आया।

#9. राहुल और पंत के साथ-साथ एक रिकॉर्ड हनुमा विहारी के नाम भी दर्ज हुआ। हालांकि ये रिकॉर्ड ऐसा है, जिसे हनुमा याद करना नहीं चाहेंगे। दरअसल वो भारत के तीसरे बल्लेबाज बने, जिन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट की एक पारी में 50 से ज्यादा रन बनाया हो और दूसरी पारी में खाता भी नहीं खोल सके। विहारी से पहले गुडप्पा विश्वनाथ और देवांग गांधी के साथ ऐसा हो चुका है।

यह भी पढ़े - अंतिम पारी में शतक लगाने वाले एलिस्टर कुक ने इस भारतीय खिलाड़ी को कहा शुक्रिया

#10. ऋषभ पंत के शतक की खास बात यह रही कि उन्होंने अपनी पारी में 15 चौके और चार छक्के भी लगाए। मतलब यह कि 114 रनों की शतकीय पारी में पंत ने 84 रन खड़े-खड़े बनाए। वे ऐसा करने वाले भारत के पहले विकेटकीपर बल्लेबाज बने।

#11. रिकॉर्डों की बात हो रही है तो जेम्स एंडरसन का नाम न लिया जाए तो यह बेमानी होगी। इंग्लैंड के स्टार तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन अब दुनिया के सबसे सफल तेज गेंदबाज बन चुके हैं। जिम्मी ने मंगलवार को ग्लेन मैक्ग्रा के 563 विकेटों के वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

Ad Block is Banned