Mitchell Santner बोले, Mahendra Singh Dhoni से काफी कुछ सीखने को मिला

Mitchell Santner ने कहा कि उन्होंने IPL में Captain Cool Mahendra Singh Dhoni के नेतृत्व में खेलते हुए काफी कुछ सीखा।

By: Mazkoor

Updated: 20 Jul 2020, 11:10 PM IST

नई दिल्ली : न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम (New Zealand Cricket Team) के बाएं हाथ के परंपरागत स्पिन गेंदबाज मिशेल सेंटनर (Mitchell Santner) का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में की वजह से उन्हें विभिन्न भारतीय विकेटों पर गेंदबाजी करने का मौका मिला। इससे उन्हें एक गेंदबाज के तौर उनका काफी विकास हुआ। उन्होंने बताया कि इस दौरान उन्होंने चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super King) की टीम की ओर से खेलते हुए हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) और रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) को भी समझा। इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा कि उनका आईपीएल का अनुभव शानदार रहा। इस दौरान उन्होंने कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी (Captain Cool Mahendra Singh Dhoni) के नेतृत्व में खेलते हुए काफी कुछ सीखा।

Jasprit Bumrah को Marnus Labuschagne ने माना खतरनाक, उनके सामने करना चाहते हैं बेहतर प्रदर्शन

धोनी की कप्तानी में खेलना रहा शानदार

2018 के सीजन के लिए सेंटनर को चेन्नई ने 50 लाख रुपए में खरीदा था, लेकिन वह घुटने में चोट के कारण उस साल टूर्नामेंट नहीं खेल पाए थे। 2019 में उन्होंने आईपीएल में वापसी की। सेंटनर ने कहा कि वह महेंद्र सिंह धोनी के खिलाफ काफी खेले हैं। इस दौरान उनके साथ ड्रेसिंग रूम साझा करना और चीजों को वह कैसे करते हैं, यह देखना शानदार रहा।

विश्व स्तरीय स्पिनरों के साथ खेलने का मौका मिला

चेन्नई के स्पिनरों के बारे में बात करते हुए सेंटनर ने कहा कि उनकी टीम में कुछ विश्व स्तरीय स्पिनर थे। जैसे हरभजन सिंह, रविंद्र जडेजा और इमरान ताहिर (Imran Tahir)। सेंटनर ने कहा कि वह जब पहले साल चोटिल हो गए तो काफी निराश थे, लेकिन जब पिछली बार मुझे मौका मिला और उन्होंने इसे अनुभव किया। उन्होंने कहा कि यह अविश्वसनीय टूर्नामेंट है और निश्चित तौर पर सर्वश्रेष्ठ टी-20 लीग है।

Steve Bucknor ने स्वीकारा- हां, उनके ही दो फैसलों की वजह से ऑस्ट्रेलिया से हारी थी Team India

चेन्नई में बस लाइन लेंथ सही रखना होगा है

सेंटनर ने चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम के बारे में बात करते हुए कहा कि वह पहली बार ऐसे मैदान पर खेल रहे थे, जहां गेंद इतनी अधिक घूमती है। चेन्नई में जो सबसे अच्छी बात थी, वह यह था कि आपको अधिक प्रयास नहीं करना पड़ता। बस लाइन-लेंथ सही रखना है, बाकी का काम पिच को करने देते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले सीजन में जब वह आईपीएल खेलने पहुंचे, तब उन्हें जितना जल्दी संभव हो वहां के हालात से सामंजस्य बैठाना था और यह पता करना था कि प्रत्येक विकेट पर कौन-सी गेंद सबसे आक्रामक है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned