न्यूजीलैंड की टीम को आईसीसी विश्व कप फाइनल में खेल भावना दिखाने के लिए मिला अवॉर्ड

एमसीसी अध्यक्ष कुमार संगकारा ने यह घोषणा करते हुए कहा कि सही मायने में कीवी टीम इस सम्मान की हकदार थी।

By: Mazkoor

Updated: 03 Dec 2019, 05:07 PM IST

मेलबर्न : आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में एक विवादित नियम के कारण न्यूजीलैंड की क्रिकेट टीम विश्व कप के खिताब से चूक गई थी। इंग्लैंड के साथ हुए खिताबी भिड़ंत में सुपर ओवर को टाई कराने के बाद भी विश्व कप का खिताब जीतने से कीवी चूक गए थे। इंग्लैंड को अधिक बाउंड्री लगाने के कारण विजेता घोषित कर दिया गया था। हालांकि इसके बाद आईसीसी ने इस विवादित नियम को हटा दिया, लेकिन न्यूजीलैंड और खिताब के आड़े सिर्फ यही नियम आया था। लेकिन कीवी टीम ने बड़ी शालीनता से इसे स्वीकार कर लिया था। इसलिए विश्व कप के फाइनल मैच में बेहतरीन खेल भावना दिखाने के लिए कीवी टीम को एमसीसी के क्रिस्टोफर मार्टिन-जेनकिंस स्प्रिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड-2019 से नवाजा गया है।

विराट बोले, उन्हें ही नहीं, सबको रहता है शमी की गेंदबाजी का इंतजार

इस कारण मिला यह अवॉर्ड

लॉर्ड्स मैदान पर 14 जुलाई को खेले गए फाइनल में मैच में इंग्लैंड को न्यूजीलैंड से ज्यादा बाउंड्री लगाने के कारण विजेता घोषित कर दिया गया था। इस दौरान कप्तान केन विलियम्सन के नेतृत्व वाली कीवी टीम ने शानदार खेल भावना, बेहतरीन इंसानियत और निस्वार्थ भावना का परिचय दिया था। इस कारण उन्हें यह अवॉर्ड दिया गया है। इसकी जानकारी देते हुए एमसीसी के अध्यक्ष कुमार संगकारा ने कहा कि सही मायने में न्यूजीलैंड की टीम इस अवॉर्ड की हकदार थी। इस तरह की लड़ाई में उन्होंने शानदार खेल भावना का परिचय दिया था।

टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नेपाल की अंजलि चंद ने किया करिश्मा, बिना रन दिए निकाले छह विकेट

हमेशा याद किए जाएंगे कीवी

कुमार संगकारा ने कहा कि यह उनकी टीम का चरित्र ही था, जो मैच के बाद भी लंबे समय तक याद किया जाएगा। उनकी टीम की ओर से पेश की गई खेल भावना का लोग हमेशा उदाहरण देंगे। इस कारण वह इस सम्मान के पूरी तरह से हकदार हैं। आईसीसी ने भी इस पर खुशी जताई है। कहा सही मायने में वह इस खिताब के हकदार थे।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned