आज के दिन इमरान ने पाकिस्तान क्रिकेट टीम को बनाया था विश्व विजयी, अकरम ने किया ट्वीट

25 मार्च 1992 पाकिस्तान क्रिकेट के इतिहास में सुनहरा दिन है। इसी दिन इमरान खान के नेतृत्व में 28 साल पहले पाकिस्तान विश्व विजयी बना था।

Mazkoor Alam

25 Mar 2020, 03:03 PM IST

नई दिल्ली : पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan Cricket Team) ने 1992 में पहली बार एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप जीता था। इस टीम का नेतृत्व वर्तमान में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के हाथों में था। बता दें कि विश्व कप के पांचवें संस्करण का फाइनल मुकाबला आज ही के दिन खेला गया था। लेकिन बता दें कि एक समय ऐसा था कि इस विश्व कप के लीग मुकाबले में ही पाकिस्तान बाहर होने की कगार पर थी। किस्मत से सेमीफाइनल में पहुंची और विश्व कप ले उड़ी। इस जीत को याद करते हुए वसीम अकरम (Wasim Akram) ने ट्वीट भी किया है।

 

राउंड रोबिन लीग पर खेला गया था यह विश्व कप

विश्व कप का पांचवां संस्करण राउंड रोबिन लीग के आधार पर खेला गया था। इसमें कुल 9 टीम ने भाग लिया था। एक समय टूर्नामेंट से बाहर होने के कगार पर खड़ी पाकिस्तान की टीम को किस्मत का साथ मिला और एक मुकाबला बारिश में बह गया, जिस कारण उसे मुश्किल से सेमीफाइनल में जगह मिली। इस तरह चौथे स्थान पर रहकर उसने अंतिम चार का रास्ता तय किया। सेमीफाइनल में लीग में टॉप पर रही न्यूजीलैंड को हराकर उसने फाइनल में प्रवेश किया। इस विश्व कप में भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही अंतिम चार तक भी नहीं पहुंच पाए थे।

कोरोना की जंग में पठान बंधु भी आए सामने, 4000 मास्क किए दान

ऐसा रहा फाइनल मुकाबला

फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ इमरान खान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया और निर्धारित 50 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 249 बनाए। इस तरह जीत के लिए इंग्लैंड को 250 रनों का लक्ष्य मिला। पाकिस्तान की ओर से इमरान खान ने कप्तानी पारी खेलते हुए सर्वाधिक 72 रन बनाए। इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम 49.2 ओवर में महज 227 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। इंग्लैंड की तरफ से एनएच फेयरब्रदर ने सर्वाधिक 62 रन बनाए। यह इंग्लैंड की विश्व कप फाइनल में तीसरी हार थी, जबकि पाकिस्तान पहली बार फाइनल में पहुंचा था।

संन्यास से वापसी कर लौटे थे इमरान

बता दें कि इमरान खान ने 1987 विश्व कप के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था, लेकिन पाकिस्तान के राष्ट्रपति जनरल जिया-उल-हक ने उनसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी का निवेदन किया था। उनके निवेदन पर ही इमरान ने दोबारा पाकिस्तान क्रिकेकट टीम में वापस लौटे थे।

सांसद निधि से दिल्ली सरकार को 50 लाख रुपए देंगे गंभीर, कहा- हथियार के बिना जंग नहीं जीती जाती

जादुई जीत लगती है इमरान की

39 साल की उम्र में इमरान खान का क्रिकेट के मैदान पर वापसी कर अपनी टीम को विश्व कप दिलाना जादू जैसा लगता है। यही कारण है कि इमरान खान को पाकिस्‍तान का महानतम कप्‍तान माना जाता है। इतना ही नहीं, अब वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री हैं। उनकी यह यात्रा भी जादुई है, क्योंकि जब वह अपनी पार्टी बनाकर राजनीति में कूदे थे, तब वह खुद सात जगह से खड़े हुए थे और उन्हें सातों जगह से बुरी हार मिली थी।

Imran Khan latest news
Show More
Mazkoor Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned