घाटी में क्रिकेटर बनाएंगे पठान बंधु

भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी यूसुफ पठान और इरफान पठान की क्रिकेट अकादमी ऑफ पठांस (सीएपी) जम्मू एवं कश्मीर के दो युवा खिलाड़ियों का खर्च उठाएगी

By: Nikhil Sharma

Published: 22 Aug 2017, 12:00 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी यूसुफ पठान और इरफान पठान की क्रिकेट अकादमी ऑफ पठांस (सीएपी) जम्मू एवं कश्मीर के दो युवा खिलाड़ियों का खर्च उठाएगी और उन्हें अपनी नोएडा स्थिति अकादमी में प्रशिक्षण देगी। पठान बंधुओं ने भारतीय सेना के साथ मिलकर यह कदम उठाया है।

18 साल के दानिश कादिर और 20 साल के शाहरुख हुसैन कुपवाडा जिले में भारतीय सेना द्वारा आयोजित कराई गई ट्रायल में से चुने गए हैं जो पठान बंधुओं की अकादमी में खेल के गुर सीखेंगे।

इरफान ने सोमवार को आईएएनएस से कहा, "दोनों खिलाड़ियों को भारतीय सेना द्वारा आयोजित ट्रायल्स में से चुना गया है, जिसमें कुल 100 बच्चों ने हिस्सा लिया था।"

युवा खिलाड़ियों के भविष्य के बारे में इरफान ने कहा, "यह खिलाड़ी अभी सिर्फ अकादमी में आए हैं। वह सीएपी के प्राथमिक कार्यक्रम से गुजरेंगे और फिर इसके बाद सीएपी के अगले कार्यक्रम में जाएंगे।"

इरफान ने सेना द्वारा उठाए गए कदम की भी तारीफ की और कहा कि वह हमेशा खेल को समर्थन देते हैं।

उन्होंने कहा, "हम हमेशा क्रिकेट का समर्थन करने और इसे बढ़ावा देने के लिए तैयार हैं। भारतीय सेना द्वारा बच्चों का समर्थन करना एक अच्छा कदम है।"

टीम इंडिया से इरफान पठान और यूसुफ पठान पिछले काफी समय से बाहर चल रहे हैं। ऐसे में दोनों भाईयों ने एकेडमी खोलकर देश के युवाओं को क्रिकेटर बनाने का संकल्प लिया है। ऐसे में अब उनका जम्मू कश्मीर के दो क्रिकेटरों को प्रशिक्षित करने का बड़ा फैसला है।

क्योंकि घाटी में क्रिकेट की हालत बेहद खराब है। लेकिन दोनों भाईयों के इस कदम से घाटी के बाकी युवा भी इस खेल से जुड़ सकेंगे। वहीं अगर दूसरे युवा भी पठान बंधुओं की एकेडमी से जुड़े तो ये काफी अच्छा रहेगा। जिससे परवेज रसूल के बाद दूसरे क्रिकेटर भी टीम इंडिया में आने वाले वक्त में जगह बना सकेंगे।

Nikhil Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned