न्यूजीलैंड के पूर्व बल्लेबाज मार्क रिचर्डसन बोले-भारत के खिलाफ खेलना अपने बॉस के खिलाफ गोल्फ खेलने जैसा

भारत और न्यूजीलैंड में अच्छी प्रतियोगिता देखने को मिलती है। पिछले कुछ सालों का रिकॉर्ड देखें तो दोनों टीमें एक-दूसरे पर भारी रही हैं। विश्व क्रिकेट में भी दोनों टीमों का दबदबा लगभग बराबरी का है।

By: Mahendra Yadav

Published: 23 May 2021, 10:53 AM IST

टीम इंडिया अगले माह न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला खेलने वाली है। आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में टीम इंडिया एक पर है। वहीं टेस्ट रैंंकिंग में न्यूजीलैंड टीम की स्थिति भी मजबूत है। ऐसे में दोनों टीमों के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला रोचक होने की उम्मीद है। कई खिलाड़ी इस मुकाबले को लेकर अपनी—अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। अब न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाजी मार्क रिचर्डसन ने भी इस पर अपना रिएक्शन दिया है। रिचर्डसन का कहना है कि भारत के खिलाफ खेलना ऐसा है जैसा अपने बॉस के खिलाफ गोल्फ खेलना।

विश्व क्रिकेट में भारत की ताकत
न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज मार्क रिचर्डसन ने भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाफ प्रतिस्पर्धा की तुलना अपने बॉस के खिलाफ गोल्फ खेलने से की है। वर्ष 2000 और 2004 के बीच इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने साश्य का इस्तेमाल संभवत: विश्व क्रिकेट में भारत की ताकत और इस तथ्य को इंगित करने के लिए किया कि कोई भी टीम विराट कोहली एंड कंपनी के खिलाफ गलत तरीके से बयानबाजी नहीं करना चाहती है। वहीं भारत और न्यूजीलैंड में अच्छी प्रतियोगिता देखने को मिलती है। पिछले कुछ सालों का रिकॉर्ड देखें तो दोनों टीमें एक-दूसरे पर भारी रही हैं। विश्व क्रिकेट में भी दोनों टीमों का दबदबा लगभग बराबरी का है। भारतीय टीम सिर्फ एक सीरीज विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में हारी है। ये सीरीज न्यूजीलैंड के खिलाफ ही थी।

यह भी पढ़ें— भारत को WTC Final तक पहुंचाने में ऋषभ पंत का सबसे अहम योगदान : सबा करीम

india_vs_nwz.png

सही तरीके से जीतें
केन विलियमसन की अगुवाई वाली न्यूजीलैंड की टीम 18 जून से साउथेम्प्टन के एजेस बाउल में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में भारत से भिड़ेगी। 49 वर्षीय रिचर्डसन ने स्पार्क स्पोर्ट से बातचीत करते हए कहा, मैं यह देखता हूं कि आप किसके खिलाफ व्यक्तिगत रूप से प्रदर्शन करना चाहते हैं। मैं इस समय भारत को देखता हूं, और यह आपके बॉस के खिलाफ गोल्फ खेलने जैसा है। आपको जीतने की अनुमति है लेकिन बिल्कुल सही तरीके से।

यह भी पढ़ें— WTC Final: 89 साल में पहली बार तटस्थ स्थल पर टेस्ट खेलेगी टीम इंडिया

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रतिस्पर्धा थी सबसे बड़ी परीक्षा
रिचर्डन पिछले साल भारत पर न्यूजीलैंड की 2-0 से जीत का जिक्र कर रहे थे। 38 टेस्ट खेलने वाले और चार शतकों और 19 अर्धशतकों के साथ 2776 रन बनाने वाले बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा कि ब्लैक कैप्स की सबसे बड़ी परीक्षा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रतिस्पर्धा थी।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned