scriptRanji Trophy Sakibul Gani mother mortgaged her jewelry | मां ने गहने गिरवी रखकर दिलाया बेटे को बैट, लाल ने डेब्यू में ही ठोक दी ट्रिपल सेंचुरी | Patrika News

मां ने गहने गिरवी रखकर दिलाया बेटे को बैट, लाल ने डेब्यू में ही ठोक दी ट्रिपल सेंचुरी

Ranji Trophy 2022 में बिहार के लाल Sakibul Gani ने कमाल करते हुए इतिहास रच दिया है। साकिबुल गनी का जीवन संघर्षों से भरा हुआ रहा है और उनको इस मुकाम तक पहुंचाने में उनकी मां ने अहम योगदान दिया है।

Published: February 21, 2022 05:10:33 pm

बिहार के युवा बल्लेबाज साकिबुल गनी (Sakibul Gani) सुर्खियों में हैं। 22 साल के इस खिलाड़ी ने रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) में इतिहास रचते हुए अपने फर्स्ट क्लास डेब्यू पर तिहरा शतक जड़कर रिकॉर्डबुक में अपना नाम दर्ज कराया। साकिबुल गनी ऐसा करने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर हैं। कोलकाता के सॉल्ट लेक स्टेडियम में साकिबुल गनी नाम का तूफान आया जिसमें मिजोरम के गेंदबाज उड़ गए। साकिबुल गनी की जीवन संघर्षों से भरा हुआ रहा है। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बातएंगे इस युवा खिलाड़ी की लाइफ से जुड़ा वो पहलू जिससे काफी कम लोग परिचित होंगे। साकिबुल गनी की सफलता के पीछे जितना हाथ उनकी कड़ी मेहनत का है उससे कहीं ज्यादा योगदान उनकी मां का भी रहा है।
Ranji Trophy Sakibul Gani mother mortgaged her jewelry
Sakibul Gani
मां ने गहने गिरवी रखकर दिलाया बेटे को बैट


साकिबुल गनी का इंटरेस्ट शुरू से ही क्रिकेट में रहा था लेकिन, उनके पास क्रिकेट बैट तक खरीदने के लिए पैसे नहीं थे। एक अच्छा क्रिकेट बैट 35 से 40 हजार रुपए तक का आता है ऐसे में गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले साकिबुल गनी महंगे बैट को खरीद पाएं इस बात की संभावना तकरीबन ना के बराबर थी।
sakibul_gani.jpg
लेकिन, मां तो मां ही होती है। बेटे को दुखी देखकर मां ने बड़ा फैसला करते हुए अपने गहने गिरवी रखकर बेटे को बैट दिलाया। मां के इस त्याग ने साकिबुल गनी को जो हौंसला दिया उसका परिणाम अब दिख भी रहा है। मिजोरम के खिलाफ गनी ने 405 गेंद पर 341 रन बनाए। इस पारी के दौरान उन्होंने 56 चौके और 2 छक्के जड़े।
यह भी पढ़ें

जैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI

gani_bat.jpg
मां ने बेटे को 3 बैट देकर कहा था तीन शतक लगाकर आना


साकिबुल गनी के बड़े भाई फैसल ने बताया कि कभी भी उनकी मां ने पैसे की कमी महसूस नहीं होने दी। जब भी उनके परिवार पर परेशानी आती तो मां गहने गिरवी रखकर मदद कर देती थी। फैजल ने कहा, 'जब मेरा छोटा भाई टूर्नामेंट खेलने के लिए जा रहा था तब मेरी मां ने उसे 3 बैट दिए और कहा- जाओ बेटा तीन शतक लगा कर आना।'
यह भी पढ़ें

इस इंडियन क्रिकेटर से शादी करना चाहती थीं प्रियंका चोपड़ा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.