सचिन तेंदुलकर ने बैट बनाने वाली ऑस्ट्रेलियाई कंपनी पर किया केस

सचिन तेंदुलकर ने बैट बनाने वाली ऑस्ट्रेलियाई कंपनी पर किया केस

Manoj Sharma | Updated: 14 Jun 2019, 09:04:32 PM (IST) क्रिकेट

  • तेंदुलकर ने सबसे ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय रन बनाए हैं
  • ऑस्ट्रेलियाई कंपनी सचिन के फोटो यूज करती थी
  • मना करने पर भी कंपनी फोटो का यूज करती रही

सिडनी। दुनिया के सबसे सफल बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने एक ऑस्ट्रेलियाई खेल उपकरण बनाने वाली कंपनी पर 20 लाख डॉलर का भुगतान न करने का मामला दर्ज कराया है।

सिडनी की कंपनी पर ऑस्ट्रेलिया में कराया मामला दर्ज

सिडनी स्थित क्रिकेट के बैट बनाने वाली इस कंपनी के खिलाफ सचिन ने ऑस्ट्रेलिया में ही केस दर्ज कराया है। इसमें सचिन ने आरोप लगाया है कि उन्हें बकाया पैसे का भुगतान नहीं किया गया। इस मामले की सुनवाई 26 जून को सिडनी की अदालत में होनी है।

कॉन्ट्रैक्ट जुलाई 2016 में हुआ, सितंबर 2018 को खत्म हुआ

आपको बता दें कि कंपनी ने तेंदुलकर के साथ जुलाई 2016 में एक कॉन्ट्रैक्ट साइन किया था। इस करार के तहत अपने प्रॉडक्ट पर सचिन की फोटो लगाने के बदले कंपनी को सचिन को हर साल 10 लाख डॉलर देने थे। सितंबर 2018 में सचिन ने कंपनी के साथ इस करार को खत्म कर दिया, लेकिन कंपनी इसके बाद भी उनकी फोटो का इस्तेमाल करती रही। सचिन का आरोप है कि उनके मना करने पर भी कंपनी ने उनका फोटो इस्तेमाल करना जारी रखा।

Former Indian opener Sachin Tendulkar

बकाया 20 लाख डॉलर का भुगतान न करने का आरोप

बताया जाता है कि भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज तेंदुलकर के वकील ने अदालत में जमा कराए एक दस्तावेज के आधार पर ऑस्ट्रेलियाई खेल उपकरण निर्माता कंपनी पर बकाया 20 लाख डॉलर का भुगतान न करने का आरोप लगाया है। दस्तावेज में सचिन ने कहा है कि कंपनी पर 20 लाख डॉलर की यह रकम सितंबर 2018 से ही बकाया है। इस रकम को न चुकाने के बावजूद सचिन का फोटो इस्तेमाल करने से स्पष्ट है कि कंपनी क्रिकेट के महान बल्लेबाज की छवि से लाभ उठाने की कोशिश कर रही थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned