गौतम गंभीर के चुनाव जीतने पर बोले अफरीदी, लोगों ने बिना अक्ल वाले को दिया वोट

गौतम गंभीर के चुनाव जीतने पर बोले अफरीदी, लोगों ने बिना अक्ल वाले को दिया वोट

Kapil Tiwari | Updated: 28 May 2019, 10:45:20 AM (IST) क्रिकेट

  • पूर्वी दिल्ली से लोकसभा चुनाव जीते हैं गौतम गंभीर
  • शाहीद अफरीदी ने गंभीर को बताया बिना अक्ल का शख्स
  • मैदान पर दोनों खिलाड़ियों के बीच हो चुकी है लड़ाई

नई दिल्ली। भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर अब नेता बन चुके हैं। हाल ही में उन्होंने लोकसभा चुनाव में पूर्वी दिल्ली से धमाकेदार जीत दर्ज की है। गौतम गंभीर की जीत से हिंदुस्तान में अगर कोई खुश नहीं होगा तो वो हैं कांग्रेस पार्टी के नेता, लेकिन हिंदुस्तान के बाहर भी कोई ऐसा है जो गौतम गंभीर की जीत से खुश नहीं है और अभी खार खाए बैठा है।

गंभीर के चुनाव जीतने पर अफरीदी का रिएक्शन

दरअसल, हम बात कर रहे हैं पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी शाहीद अफरीदी की। जी हां, अफरीदी और गंभीर दोनों के बीच छत्तीस का आंकड़ा है। इन दोनों खिलाड़ियों के बीच मैदान पर कई बार हाथापाई तक की नौबत आई है। इस बीच गौतम गंभीर के चुनाव जीतने की खबर पाकिस्तान भी पहुंच गई है। गंभीर के चुनाव जीतने पर शाहीद अफरीदी की प्रतिक्रिया आई है। अफरीदी ने कहा है कि हिंदुस्तान में लोगों ने ऐेसे शख्स को वोट किया है, जिसके पास दिमाग नहीं है।

लोगों ने उसे वोट दिया, जिसे अक्ल नहीं है- अफरीदी

हाल ही में अपनी आत्मकथा 'गेम चेंजर' के जरिए शाहीद अफरीदी की खूब भद्द पिटी थी। आड़े-टेड़े बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले अफरीदी ने गौतम गंभीर को 'पागल' कहा है। दरअसल, अफरीदी का ये रिएक्शन गौतम के उस बयान को लेकर आया है, जिसमें उन्होंने पाकिस्तान के साथ सभी संबंध खत्म करने की बात कही थी। गंभीर के बयान पर शाहिद अफरीदी ने कहा है, ''यह गौतम ने कहा है तो क्या उसकी अक्ल से लग रह है कि उसने कोई अक्ल की बात कही। क्या पढ़े लिखे लोग ऐसी बातें करते हैं।'' अफरीदी ने आगे कहा, ''यह बेवकूफों वाली बात है, मतलब लोगों ने उसे वोट दे दिए जिसे अक्ल नहीं है।''

अफरीदी ने अपने बयानों की वजह से पिटवाई है भद्द

आपको बता दें कि क्रिकेट से रिटायर होने के बाद शाहीद अफरीदी भारत के खिलाफ बयानबाजी करते रहे हैं। कभी कश्मीर को लेकर तो कभी भारतीय हस्तियों को लेकर उन्होंने विवादित बयान दिए हैं। हाल ही में अफरीदी ने अपनी बायोग्राफी में ये कहा था कि वो कभी अपनी बेटियों को देश से बाहर खेलने की इजाजत नहीं देंगे और इसके लिए उन्होंने इस्लाम का हवाला दिया था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned