Ben Stokes का सनसनीखेज खुलासा, चार भारतीय खिलाड़ियों के कारण Team India हारी World Cup Match

Ben Stokes ने अपनी नई किताब On Fire में टीम इंडिया के खिलाफ खेले गए World Cup Match का जिक्र किया है और Team India की हार के कारणों का खुलासा किया है।

By: Mazkoor

Updated: 27 May 2020, 04:13 PM IST

नई दिल्ली : इंग्लैंड (England Cricket Team) को एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप 2019 (ICC Cricket World Cup 2019) दिलाने में स्टार हरफनमौला बेन स्टोक्स (Ben Stokes) की बड़ी भूमिका थी। अब उन्होंने सनसनीखेज खुलासा किया है और विश्व कप में भारत की हार के लिए टीम इंडिया (Team India) के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli), उपकप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma), विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) और हरफनमौला केदार जाधव (Kedar Jadhav) को जिम्मेदार ठहराया है। इसके साथ ही उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ मैच में रनों का पीछा करने के दौरान भारतीय टीम की रणनीति पर सवाल उठाया। स्टोक्स ने कहा कि उन्हें रोहित शर्मा और विराट कोहली की साझेदारी रहस्यमयी लगी, जबकि महेंद्र सिंह धोनी ने जज्बा नहीं दिखाया।

कोहली की शिकायत को हताशा करार दिया

इंग्लैंड से हार के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने बाउंड्री होने की शिकायत की थी। विश्व कप के दौरान बर्मिंघम के जिस मैच पर भारत-इंग्लैंड का मैच खेला गया था, वह बाउंड्री महज 59 मीटर का था। बेन स्टोक्स ने भारतीय कप्तान के इस शिकायत को उनका हताशा करार दिया। इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 337 रन बनाए थे, जबकि भारत सिर्फ 306 रन बना पाया था। इस तरह से इंग्लैंड ने इस मैच में 31 रनों से जीत हासिल की थी। स्टोक्स ने अपनी नई किताब 'ऑन फायर' (On Fire) में विश्व कप के इस मैच का जिक्र किया है।

ICC ने BCCI को दी धमकी, वह भारत से छीन सकता है T20 World Cup

धोनी की धीमी बल्लेबाजी पर उठाया सवाल

स्टोक्स ने कहा कि धोनी जब बल्लेबाजी के लिए आए थे, तब टीम इंडिया को 11 ओवर में 112 रन बनाने थे। लेकिन उन्होंने बेहद अजीब तरीके से बल्लेबाजी की। वह गेंद को सीमारेखा पार कराने के बजाय एक रन लेने को ज्यादा आतुर दिखे। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम आखिरी 12 गेंद पर भी जीत सकती थी, लेकिन धोनी और केदार जाधव की साझेदारी में जीत की ललक नहीं दिखी। उन्हें लगता है कि अगर वह ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते तो रन बना सकते थे।

मैच हाथ से निकलने के बाद धोनी खेले तेज

स्टोक्स ने कहा कि इंग्लैंड की ड्रेसिंग रूम को लगा कि धोनी मैच को आखिरी ओवरों तक ले जाना चाहते हैं। बता देंकि धोनी इस मैच में 31 गेंद पर 42 रन बनाकर नाबाद रहे थे, लेकिन उन्होंने ज्यादातर रन अखिरी ओवरों में तब बनाए, जब मैच भारत के हाथ से फिसल चुकी थी। स्टोक्स ने अपनी किताब में कोहली ने सीमा रेखा के छोटा होने की बात पर भी सवाल उठाया है। स्टोक्स ने कहा कि उन्हें यह थोड़ा अजीब लगा था।

Bowling Coach ने की भविष्यवाणी, अभी बना रहेगा भारतीय तेज गेंदबाजों का जलवा

धोनी की बल्लेबाजी स्टाइल पर हुई चर्चा

स्टोक्स ने आगे लिखा है कि उनकी ड्रेसिंग रूम में इस बात की चर्चा हो रही थी कि धोनी के खेलने का तरीका यही है, ताकि अगर टीम इंडिया नहीं जीतती है, तब भी उनका नेट रन रेट बना रहे। इसके अलावा कप्तान विराट कोहली और उपकप्तान रोहित शर्मा की बल्लेबाजी पर भी सवाल उठाया और कहा कि जिस तरह से ये दोनों खेल रहे थे, वह किसी रहस्य से कम नहीं था। स्टोक्स ने कहा कि उन्हें पता है कि इस दौरान उनकी टीम ने शानदार गेंदबाजी की, लेकिन जिस तरह से इन दोनों ने बल्लेबाजी की, वह बिल्कुल विचित्र था। इन दोनों बल्लेबाजों ने अपनी टीम को मैच में काफी पीछे धकेल दिया। उन्होंने हमारी टीम पर दबाव डालने की कोई इच्छा नहीं दिखाई। ये दोनों हमारी रणनीति के मुताबिक खेल रहे थे।

Show More
Mazkoor Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned