पहले टेस्ट के बाद यह खिलाड़ी लेने वाला था संन्यास, सीरीज में बना Player of the tournament

Stuart Broad ने कहा कि पहले टेस्ट में बाहर किए जाने के बाद उनके मन में 100 फीसदी संन्यास की बात चल रही थी। वह काफी निराश थे, क्योंकि उन्हें लग रहा था कि वह खेलने के हकदार थे।

By: Mazkoor

Updated: 02 Aug 2020, 05:48 PM IST

लंदन : इंग्लैंड क्रिकेट टीम (England Cricket Team) के अनुभवी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) को वेस्टइंडीज (West Indies Cricket Team) के खिलाफ खेले गए टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन के कारण प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट (Player of the tournament) का अवॉर्ड मिला। उन्होंने दो टेस्ट में 16 विकेट लिए और 77 रन बनाए। लेकिन पहले टेस्ट में उन्हें अंतिम एकादश में जगह नहीं मिली थी। ब्रॉड ने खुलासा किया कि जब उन्हें पहले टेस्ट से बाहर किया गया था तो वह संन्यास के बारे में सोच रहे थे। हालांकि पहले टेस्ट में इंग्लैंड की हार के बाद उन्हें दूसरे और तीसरे दोनों टेस्ट में मौका मिला। इस दरमियान तीसरे मैच में तो उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपने 500 विकेट भी पूरे किए। ऐसा करने वाले वह अपने देश के दूसरे, और विश्व के सातवें गेंदबाज बने।

Wasim Akram ने IPL को बताया विश्व का सबसे बड़ा क्रिकेट लीग, BCCI की भी तारीफ की

जब बाहर किया गया तो झटका लगा था

स्टुअर्ट ब्रॉड ने एक ब्रिटिश मीडिया को बताया कि जब कार्यकारी कप्तान बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने बताया कि वह पहले टेस्ट में नहीं खेल रहे हैं तो उन्हें लगा कि उनके शरीर में झटके लग रहे हैं। उन्हें बोलने में परेशानी हो रही थी। ब्रॉड ने कहा कि इसके बाद उनके मन में 100 फीसदी संन्यास की बात चल रही थी। वह काफी निराश थे, क्योंकि उन्हें लग रहा था कि वह खेलने के हकदार थे।

Sourav Ganguly के पहले कोच Ashok Mustafi का निधन, Avishek Dalmiya बोले- क्रिकेट उनका योगदान याद रखेगा

प्रोटोकॉल भी थी निराशा की वजह

ब्रॉड ने कहा कि हालांकि उन्होंने यह बात किसी को नहीं बताई, लेकिन वह पहले टेस्ट मैच के दौरान काफी निराश थे। इस दरमियान काफी हताश महूसस कर रहे थे। कोरोना वायरस (Coronavirus) खतरे के कारण लगाए गए बायो सिक्योर प्रोटोकॉल (Bio Secure Protocol) के कारण वह होटल में फंस गए थे। इस दौरान वह कहीं और नहीं जा सकते थे। वह न तो अपनी प्रेमिका मौली या फिर बारबेक्यू जा सकते थे और न कहीं मस्ती के लिए जा सकते थे। ब्रॉड ने कहा कि वह दो दिनों तक सो नहीं पाए। उस दौरान वह कहीं नहीं थे। वह जैसा महसूस कर रहे थे, उसे देखते हुए वह अगर कोई अलग तरह का फैसला ले लेते तो कोई आश्चर्य नहीं होता।

Show More
Mazkoor Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned