Sunil Gavaskar ने World Cup 2019 में भारत की हार का कारण बताया, यह गलती पड़ी भारी

Mahendra Singh Dhoni और Ravindra Jadeja ने न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच लड़ाने की काफी कोशिश की थी, मगर धोनी के आउट होते ही Team India की संभावनाएं बंद हो गई।

By: Mazkoor

Updated: 24 Aug 2020, 07:27 PM IST

नई दिल्ली : आईसीसी एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप 2019 (ICC ODI Cricket World Cup 2019) के ग्रुप चरण में भारत का प्रदर्शन बेहद शानदार रहा था। वह शीर्ष पर रह कर सेमीफाइनल में पहुंचा था। इसमें भारतीय गेंदबाजों के साथ-साथ शीर्ष क्रम ने अहम भूमिका निभाई थी। लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में भारत (IND vs NZ World Cup Semifinal) को हार का मुंह देखना पड़ा था। वह भी तब जब भारत को लक्ष्य भी महज 240 रन का मिला था और लग रहा था कि पिछले कुछ सालों से लगातार शानदार प्रदर्शन कर रही टीम इंडिया (Team India) के लिए यह लक्ष्य कुछ नहीं है। अब 1983 विश्व कप विजेता (ICC ODI Cricket World Cup 1983) टीम के सदस्य सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) ने टीम इंडिया के हार का कारण बताया है।

IPL 2020 : प्रोटोकॉल में बदलाव, ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड के खिलाड़ी यूएई पहुंचते ही खेल सकेंगे मैच

गावस्कर ने भी मध्यक्रम को जिम्मेदार ठहराया

भारत के शीर्ष क्रम ने पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया था। वह पहली बार न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में विफल रहा और भारत को हार का सामना करना पड़ा। मध्यक्रम दबाव में एक बार फिर बिखर गया। लोअर मिडल ऑर्डर में महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) और रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने मैच लड़ाया, मगर धोनी के रन आउट होते ही विश्व कप में भारत की सारी संभावनाएं बंद हो गई। विश्व कप में भारत के हार का कारण चयन समिति (Selection Committee) का गलत चयन और टीम प्रबंधन (Team Management) की अक्षमता को बताया जाता है। माना जाता है कि चयन समिति ने नंबर चार के लिए विशेषज्ञ बल्लेबाज का चयन नहीं किया तो वहीं शिखर धवन (SShikhar Dhawan) और विजय शंकर (Vijay Shankar) के चोटिल होने पर भी टीम प्रबंधन ने नंबर चार के लिए विशेषज्ञ बल्लेबाज की मांग नहीं की। कुछ ऐसा ही मानना है विश्व के महानतम सलामी बल्लेबाजों में से एक सुनील गावस्कर का।

गावस्कर बोले, मध्यक्रम में नहीं थे अच्छे बल्लेबाज

सुनील गावस्कर ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा कि मध्यक्रम में चार, पांच और छह पर बहुत अच्छे बल्लेबाज होने चाहिए। ऐसे बल्लेबाज, जो शीर्ष पर भी बल्लेबाजी कर सकें या फिर शीर्ष क्रम फेल हो तो पारी संवार सकें। गावस्कर ने कहा कि हमने 2019 विश्व कप में नंबर चार पर विशेषज्ञ बल्लेबाज नहीं रखने की गलती की। टूर्नामेंट में अगर इस नंबर पर विशेषज्ञ बल्लेबाज होता तो शायद कहानी पूरी तरह अलग होती।

Sunil Gavaskar बोले, वह भी Rohit Sharma जैसी बल्लेबाजी करना चाहते थे, पर खुद पर नहीं था भरोसा

विश्व कप में शीर्ष क्रम शानदार था : गावस्कर

गावस्कर ने कहा कि विश्व कप में भारत की टॉप-3 बल्लेबाजी ऑर्डर इतनी शानदार थी, जो विश्व कप के ग्रुप चरण में शानदार रही। ऐसे में नंबर चार और पांच को लंबी पारी खेलने का मौका नहीं मिला। वहीं जब टॉप तीन सस्ते में आउट होते हैं तो दुर्भाग्य से वह भारत का सेमीफाइनल मैच होता है। ऐसे में मध्य क्रम को पारी संभालने के लिए आगे आना चाहिए था, लेकिन यहीं पर नंबर चार, पांच और छह के बल्लेबाज विफल हो गए।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned