scriptT20 World Cup 2024: खेलों में सालाना 10 लाख करोड़ का सट्टा लगाता है यह देश, अब यहां हुई क्रिकेट की एंट्री | T20 World Cup 2024 Satta Market Cricket; USA sports Betting worth rupees 10 lakh crore every year satta king | Patrika News
क्रिकेट

T20 World Cup 2024: खेलों में सालाना 10 लाख करोड़ का सट्टा लगाता है यह देश, अब यहां हुई क्रिकेट की एंट्री

अमेरिका में क्रिकेट इतना लोकप्रिय नहीं है। लेकिन यहां अन्य खेलों में हर साल करीब 10 लाख करोड़ का सट्टा लगाया जाता है। ऐसे में इस बार यहां क्रिकेट की भी एंट्री हो गई है।

नई दिल्लीJun 06, 2024 / 05:16 pm

Siddharth Rai

Satta Market, T20 World Cup 2024: टी20 वर्ल्ड कप 2024 का आयोजन वेस्टइंडीज और यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका (USA) में किया जा रहा है। यह पहली बार है जब अमेरिका में क्रिकेट वर्ल्ड कप का आयोजन किया जा रहा है। क्रिकेट वर्ल्ड कप के आते ही कई देशों में सट्टा बाज़ार गरम हो जाता है। भारत, पाकिस्तान, यूएई और दुनिया के तमाम देशों में क्रिकेट पर कई लाख करोड़ का सट्टा लगाया जात है।

अमेरिका में क्रिकेट इतना लोकप्रिय नहीं है। लेकिन यहां अन्य खेलों में हर साल करीब 10 लाख करोड़ का सट्टा लगाया जाता है। ऐसे में इस बार यहां क्रिकेट की भी एंट्री हो गई है। अब देखना दिलचस्प होगा की टी20 वर्ल्ड कप 2024 के आयोजन से यहां के सट्टा बाज़ार की क्या स्थिति होगी। कई देशों की तरह अमेरिका में भी स्पोर्ट्स बेटिंग कई वर्षों तक रेगुलेटेड नहीं थी। साल 1992 में फेडरल कानून के तहत अमेरिका के सभी राज्यों में स्पोर्ट्स बेटिंग पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। लेकिन 2018 में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए इसपर से रोक हटा दी और एक बार फिर सट्टा लीगल हो गया।

अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट का कहना था कि जब बैन के बावजूद पैसों का यह खेल चल ही रहा है तो इसे क्यों न इसे मान्यता दे दी जाए। इस समय अमेरिका के 50 में से 38 राज्यों में स्पोर्ट्स बेटिंग को कानूनी मान्यता मिली हुई है। अमेरिकी गेमिंग एसोसिएशन के मुताबिक 2023 में खेलों में अमेरिका ने 119.84 बिलियन डॉलर, यानी भारतीय मुद्रा के मुताबिक करीब 10 लाख करोड़ रुपए का सट्टा लगाया गया। यह रकम 2022 की तुलना में 27.5% ज्यादा है।

अमेरिका में लोगों की बेटिंग में बढ़ती रुचि से अमेरिकी बेटिंग कंपनियों का रेवेन्यू भी हर साल बढ़ता ही जा रहा है। 2023 में अमेरिकी स्ट्टेबाजी कंपनियों ने 10.92 बिलियन डॉलर, यानी भारतीय मुद्रा के मुताबिक करीब 90 हजार करोड़ रुपए का रेवेन्यू जनरेट किया। अमेरिका में सबसे ज्यादा सट्टा फुटबॉल पर लगता है। इसके बाद बास्केटबॉ़ल और बेसबॉल का नंबर आता है। अमेरिका में हॉर्स रेसिंग, हॉकी और कार रेसिंग पर भी सट्टा लगता है।

Hindi News/ Sports / Cricket News / T20 World Cup 2024: खेलों में सालाना 10 लाख करोड़ का सट्टा लगाता है यह देश, अब यहां हुई क्रिकेट की एंट्री

ट्रेंडिंग वीडियो