Teachers Day 2018: भारतीय क्रिकेटर्स ने आज के दिन याद किया अपने गुरुओं को, सचिन और रैना के अलावा इन्होंने किया ट्वीट

Teachers Day 2018: भारतीय क्रिकेटर्स ने आज के दिन याद किया अपने गुरुओं को, सचिन और रैना के अलावा इन्होंने किया ट्वीट

PRABHANSHU RANJAN | Publish: Sep, 05 2018 04:43:05 PM (IST) क्रिकेट

क्रिकेटरों के जीवन में भी गुरु होते हैं और वो उनसे काफी गहरा सम्बन्ध साझा करते हैं।विराट से लेकर सचिन और हरभजन से लेकर धोनी तक कई मिसाल हैं । जिनकी सफलता में उनके गुरुओं का महत्वपूर्ण योगदान है ।

नई दिल्ली। आज शिक्षक दिवस के मौके पर भारत में कई स्कूल-कॉलेजों में बड़े धूम-धाम से इस दिन को मनाया जा रहा है । गुरुओं के लिए बेहद खास इस दिन पर गुरुओं को विशेष सम्मान और प्यार दिया जाता है । हम सभी के जीवन में कोई न कोई गुरु तो होता ही है । जिसने कभी न कभी हमें कोई सीख जरूर मिली है ।क्रिकेटरों के जीवन में भी गुरु होते हैं और वो उनसे काफी गहरा सम्बन्ध साझा करते हैं।विराट से लेकर सचिन और हरभजन से लेकर धोनी तक कई मिसाल हैं । जिनकी सफलता में उनके गुरुओं का महत्वपूर्ण योगदान है । शायद इसी वजह से आज के दिन व्यस्त शेड्यूल के बावजूद भी क्रिकेटर्स अपने गुरु को याद करना नहीं भूले हैं ।

 

सचिन ने अपने गुरु रमाकांत अचरेकर को किया याद
1983 में विश्व कप विजेता टीम के सदस्य बलविंदर सिंह संधू से लेकर बल्लेबाजी के बादशाह सचिन तेंदुलकर तक कई क्रिकेटरों को कोचिंग देने वाले रमाकांत अचरेकर को उनके शिष्य ने शिक्षक दिवस के मौके पर याद किया। अपने शिष्यों के बीच अचरेकर सर के नाम से मशहूर कोच और गुरु को आज क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने याद किया । उन्होंने ट्वीट करके कहा "आज मैं जो कुछ भी हूँ उसमें उनके गुरु की बड़ी भूमिका है.” शिक्षकों के बिना, हमारा जीवन वो नहीं होता जो अभी है।तो आइए हम आज शिक्षक दिवस के मौके पर उनके अमूल्य योगदान की सराहना करते रहें। अध्यापक दिवस की शुभकामनाएं!


भज्जी और रैना ने भी अपने गुरु को किया याद
तेंदुलकर की ही तरह उनके अच्छे दोस्त हरभजन सिंह और सुरेश रैना ने भी ट्वीट कर अपने गुरुओं को याद किया है । आपको बता दें जहां हरभजन सिंह ने क्रिकेट को ही अपना गुरु बताया है तो रैना ने स्पोर्ट्स को अपना गुरु माना है।हरभजन ने कहा है की " क्रिकेट ने मुझे जिंदगी की हर एक बारीकी सिखाई है ।क्रिकेट सिर्फ एक खेल नहीं क्रिकेट एक शिक्षक जैसा है । जब आपक क्रिकेट खेलते हैं तो सीखते हैं, मैंने जिंदगी के कई उतार-चढ़ाव और मुश्किल पलों को क्रिकेट से ही जीता है । वही सुरेश रैना ने कहा की " परिस्थितियों से लड़ना, फिट रहना... मैंने खेल से बहुत कुछ सीखा है और यह मेरे सबसे महान शिक्षकों में से एक रहा है।इसके साथ ही उन्होंने अपने फ़ॉलोअर्स से भी सवाल किये की उन्हें खेल ने क्या सिखाया है । जवाब आपको रोमांचक उपहार वाउचर जीत सकता है ।

Ad Block is Banned