scriptThese cricket rules that ICC should not have ended | CRICKET इतिहास के वो नियम जो ICC को नही करने चाहिए थे खत्म | Patrika News

CRICKET इतिहास के वो नियम जो ICC को नही करने चाहिए थे खत्म

क्रिकेट के नियम जब सन 1774 में बने थे तो कुछ नियम ऐसे भी थे जो जब से लेकर अब तक चल रहे है तथा कुछ नियमों में बदलाव किया गया। लेकिन आज के इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही 3 क्रिकेट नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें आईसीसी को खत्म नहीं करना चाहिए था।

नई दिल्ली

Updated: April 24, 2022 01:40:01 pm

क्रिकेट की शुरुआत वैसे तो 16 वी सदी के अंत तक मानी जाती है। लेकिन क्रिकेट को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चलाने की संस्था का निर्माण 15 जून 1909 में हुआ था जिसका नाम आईसीसी यानी कि इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) था। इस संस्था की स्थापना इसलिए की गई थी गई है यह क्रिकेट के प्रबंधन, मार्गदर्शन और नियंत्रण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाए।
ICC
CRICKET इतिहास के वो नियम जो ICC को नही करने चाहिए थे खत्म
क्रिकेट के नियम जब सन 1774 में बने थे तो कुछ नियम ऐसे भी थे जो जब से लेकर अब तक चल रहे है तथा कुछ नियमों में बदलाव किया गया। लेकिन आज के इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे ही 3 क्रिकेट नियमों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें आईसीसी को खत्म नहीं करना चाहिए था। इसे हम ऐसे समझ सकते हैं कि मैच के दौरान पारदर्शिता बनाने के लिए ICC ने इन नियमों को हटाने का फ़ैसला किया।
आपको बता दें कि किसी भी खेल में नियमों की बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका होती है। खेल को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं तथा खेल में पारदर्शिता बनाए रखते हैं। क्रिकेट के खेल में भी कई नियम ऐसे थे जिन्हें आईसीसी ने हटाने का फैसला किया। तो कौनसे हैं यह नियम आइए आपको बताते हैं

1) बैटिंग पावरप्ले

क्रिकेट का शानदार और मजेदार नियम बैटिंग पॉवरप्ले 2015 से पहले मौजूद था, लेकिन 2015 क्रिकेट विश्व कप के बाद आईसीसी ने इसे हटाने का फैसला किया था। इस नियम के तहत बैटिंग करने वाली टीम मैच के दौरान कभी भी 5 ओवर का पावर प्ले ले सकती थी। जिससे उसे तेजी से रन बनाने में मदद मिलती थी। इस नियम से बैटिंग करने वाली टीम को फायदा मिलता था लेकिन आईसीसी ने अब इसे हटा दिया है।

2) सुपर सब

आपको बता दें सुपर सब नियम बहुत ही ज्यादा अनोखा था। इस नियम के अनुसार 12 वें खिलाड़ी को खेलने अनुमति होती थी, जिसे आप मैच के दौरान कभी भी प्लेइंग इलेवन में दूसरे की जगह शामिल कर सकते थे। इस नियम को आईसीसी ने साल 2005 में खत्म कर दिया था।

3) रनर के इस्तेमाल पर रोक

गौरतलब है कि 1774 में क्रिकेट के नियम बने तो उसमें रनर लेने का कोई प्रावधान नहीं था। यह रनर नियम 120 सालों तक ऐसा ही चलता रहा। जब किसी भी बल्लेबाज को मैच के दौरान भागने में कठिनाई या परेशानी होती थी तो वह रनर का इस्तेमाल कर लेता था। लेकिन क्रिकेट के कई मौकों परआईसीसी ने देखा कि इस नियम का गलत फायदा उठाया गया है। इसलिए साल 2011 में रनर के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई। अब किसी खिलाड़ी को अगर भागने में कोई परेशानी होती है तो उसे रिटायर्ड हर्ट होना पड़ता है।

यह भी पढ़ें

Birthday Special : सचिन रिटायरमेंट के बाद भी अमीर क्रिकटरों की लिस्ट में शुमार, इन तरीकों से कमाते हैं पैसा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीMaharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के दीपक केसरक का बड़ा बयान, कहा- हमें डिसक्वालीफिकेशन की दी जा रही हैं धमकीMaharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितTeesta Setalvad detained: तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात ATS ने लिया हिरासत में, विदेशी फंडिंग पर होगी पूछताछकर्नाटक में पुजारियों ने मंदिर के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, ठगे 20 करोड़ रुपएAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात- रिपोर्ट'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.