रणजी ट्रॉफी के रण में मिजोरम की ओर से खेलेगा जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के मुख्य कोच का बेटा

रणजी ट्रॉफी के रण में मिजोरम की ओर से खेलेगा जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के मुख्य कोच का बेटा

Prabhanshu Ranjan | Publish: Sep, 05 2018 04:09:08 PM (IST) क्रिकेट

रणजी ट्रॉफी 2018-19 की शुरुआत 6 अक्टूबर से होने जा रही है। इस बार इस टूर्नामेंट में भारत की 9 नई टीमें भाग ले रही है।

नई दिल्ली। भारतीय घरेलू क्रिकेट में रणजी ट्रॉफी को सबसे बड़े टूर्नामेंट के रूप में माना जाता है। इस ट्रॉफी में भारत के बड़े क्रिकेटर खेलते है। इस साल रणजी ट्रॉफी की शुरुआत 6 अक्टूबर से होने जा रही है। रणजी ट्रॉफी के पिछले 83 आयोजनों से इतर इस बार आयोजन अलग है। कारण कि इस बार इस ट्रॉफी में 9 नई टीमें शामिल हो रही है। इन नौ नई टीमों में एक टीम मिजोरम की भी है। इस बार मिजोरम की ओर से जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के मुख्य कोच का बेटा भी खेलता नजर आएगा। बता दें कि जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के मुख्य कोच इस वक्त लालचंद राजपूत हैं। उनका लड़का अखिल राजपूत इस साल मिजोरम की ओर से रणजी खेलेगा।

सचिन मामोन ने की पुष्टि-
अखिल के मिजोरम की ओर से खेलने की घोषणा मिजोरम क्रिकेट संघ के सचिव मामोन मजूमदार ने कर दी है। मामोन ने बताया कि हमने तीन मेहमान खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया है। बीसीसीआई के अधीन खेलने को लेकर राज्य में बहुत उत्साह है। बता दें कि मिजोरम के तीन मेहमान खिलाड़ियों की सूची में अखिल के अलावा पंजाब के 29 वर्षीय हरफरमौला खिलाड़ी तरूवर कोहली और कर्नाटक के 27 वर्षीय लेग स्पिनर सिनान अब्दुल खादीर भी शामिल है।

रणजी खेलने को उत्साहित है मिजोरम-
मिजोरम क्रिकेट संघ के सचिन मामोन ने आगे कहा कि कर्नाटक के पूर्व कोच पी वी शशिकांत टीम के कोच होंगे। बता दें कि मिजोरम क्रिकेट टीम के पूर्व कोच शोक मल्होत्रा ने व्यक्तिगत कारणों का हवाला देते हुए अपना इस्तीफा दे दिया था। मामोन ने आगे बताया कि हम बीसीसीआई के तहत आयोजित होने वाले इस टूर्नामेंट में खेलने को लेकर बहुत उत्साहित है।

क्या है अखिल की खासियतें-
भारत के पूर्व क्रिकेटर और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मैनेजर लालचंद राजपूत के बेटे अकिल टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज है। बल्लेबाजी के अलावा अखिल ऑफ स्पिनर भी है। अखिल ने मुंबई में कई टूर्नामेंटों में अपने क्रिकेट प्रतिभा को दिखाया है। उनके पिता लालचंद राजपूत भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज रहे हैं। उनके मैनेजर रहते हुए भारतीय टीम ने 2007 में दक्षिण अफ्रीका में आयोजित पहले विश्व टी-20 टूर्नामेंट में चैंपियन बनने के रूतबा हासिल किया था।

Ad Block is Banned