तेलंगाना: वारंगल में कुएं से मिले 9 प्रवासी श्रमिकों के शव, हत्या या आत्महत्या पर सस्पेंस बरकरार

- जिन प्रवासी मजदूरों ( Migrants Worker ) का शव मिला है वो यूपी ( UP ) और बिहार ( Bihar ) के थे

- सभी मजदूर लॉकडाउन की वजह से तेलंगाना में फंस गए थे

By: Kapil Tiwari

Updated: 22 May 2020, 05:52 PM IST

हैदराबाद। कोरोना संकट ( coronavirus ) के बीच तेलंगाना ( Telangana ) से एक हैरान कर देनेवाली घटना सामने आई है। यहां के वारंगल ( warangal ) जिले के इंडस्ट्रियल एरिया में एक कुएं के अंदर से 9 शव मिले हैं। इनकी जांच में पता चला है कि ये सभी प्रवासी मजदूर हैं। ये लोग पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) और बिहार ( Bihar ) से यहां आए हुए थे, लेकिन लॉकडाउन ( Lockdown ) की वजह से यहीं फंस गए। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। इसकी जांच हत्या और आत्महत्या दोनों ही एंगल से की जा रही है।

एक ही परिवार के 6 सदस्य

शुरुआती जांच में पता चला है कि मृतकों में से 6 लोग एक ही परिवार के थे। इनमें दो महिलाएं और एक तीन साल का बच्चा भी शामिल है। अभी तक इनके मौत का कारण साफ नहीं हो सका है। मामला जिले के गोर्टेकुंटा इंडस्ट्रियल एरिया से सामने आया है। बताया जा रहा है कि ये सभी यहीं एक टाट की बारी के गोदाम में रहते थे।

दो दिन में निकाले 9 शव

गुरुवार की दोपहर गोदाम का मालिक जब वहां पहुंचा तो उनमें से सभी वहां से गायब थे। किसी को गोदाम में न पाकर मालिक ने पुलिस को इस बारे में जानकारी दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस को कुएं में शव मिले। तलाशी अभियान में पुलिस ने गुरुवार को चार और शुक्रवार को पांच शव निकाले। इनमें से 6 पश्चिम बंगाल के थे जो एक ही परिवार के थे। इनकी पहचान मकसूद (50), उसकी पत्नी निशा (45), बेटी बुशरा (20) बुशरा का बेटा (3), मकसूद के दो बेटे शाहबाद (22) सोहेल (20) के रूप में हुई है।

पोस्टमार्टम की रिपोर्ट से होगा मौत पर खुलासा

इनके अलावा तीन अन्य मजदूर पश्चिम बंगाल के हैं। इनकी पहचान श्रीराम, श्याम और शकील के रूप में हुई है। फिलहाल, सबका पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। इसकी रिपोर्ट से ही मौत का कारण पता चल सकेगा। इसके बाद ही हत्या या आत्महत्या की गुत्थी भी सुलझ सकेगी।

कुएं में और शव होने का शक

पुलिस को शक है कि कुएं में और शव हो सकते हैं, इसलिए कुएं के पानी की बाहर निकालने का काम जारी है। पुलिस ने बताया कि पश्चिम बंगाल का परिवार 20 साल पहले यहां काम करने आया था। यहीं, गोदाम के दो कमरों में सभी रहते थे। पुलिस को शक है कि इन्होंने आर्थिक तंगी के कारण सुसाइड किया है। हालांकि, इसका खुलासा होना अभी बाकी है।

कोरोना वायरस coronavirus
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned