आरुषि मर्डर केसः तलवार दंपती को बड़ा झटका, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की याचिका को दी मंजूरी

आरुषि मर्डर केसः तलवार दंपती को बड़ा झटका, सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की याचिका को दी मंजूरी

dheeraj sharma | Publish: Aug, 10 2018 03:03:07 PM (IST) क्राइम

आरूषि मर्डर केस में तलवार दंपती को लगा बड़ा झटका, रिहाई के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट हुआ सहमत

नई दिल्ली। एक अनसुलझी पहेली बन चुके आरुषी मर्डर केस एक बार सुर्खियों में है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने 2008 के बहुचर्चित आरुषि और हेमराज मर्डर केस में आरोपी डेंटिस्ट दंपति राजेश और नुपूर तलवार को बरी किए जाने को चुनौती देने वाली सीबीआई की याचिका पर सुनवाई के लिए सहमति जताई है। इस खबर के साथ ही तलवार दंपती को सुप्रीम झटका भी लगा है।

दरअसल पिछले साल 12 अक्टूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट की ओर से तलवार दंपति को बरी कर दिया था, जिसके बाद हेमराज की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर कर न्याय की गुहार लगाई थी। इस पर जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस के.एम. जोसेफ की तीन जजों की बैंच ने कहा कि सीबीआई की अपील पर हेमराज की पत्नी की लंबित याचिका के साथ सुनवाई की जाएगी।

आपको बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ये फैसला सीबीआई की ओर से ऐसा कोई पुख्ता सबूत पेश नहीं किए जाने के बाद सुनाया था, जिससे ये साबित होता हो कि आरुषि और हेमराज की हत्याएं तलवार दंपती ने की थी। हाईकोर्ट ने साथ ही सीबीआई जांच की खामियों की ओर भी इंगित किया था। इस मामले में सीबीआई की ओर से पेश हुए अडिशनल सॉलिसिटर जनरल मनिंदर सिंह ने हेमराज की पत्नी की ओर से दायर याचिका को संदर्भित किया। इस पर कोर्ट ने कहा कि सीबीआई की अपील को इसके साथ टैग किया जाएगा।

16 मई 2008 को नोएडा के जलवायु विहार में तलवार दंपती के घर पर आरुषि का शव उसके बेडरूम में पाया गया था. पुलिस को पहले घर के नौकर हेमराज पर आरुषि की हत्या का शक हुआ. लेकिन एक दिन बाद घर की छत से ही हेमराज का शव भी पुलिस को मिला. नोएडा पुलिस ने वारदात के बाद दिए बयान में तलवार दंपती पर शक जताते हुए कहा था कि आरुषि और हेमराज को च्आपत्तिजनक अवस्थाज् में देखने के बाद राजेश ने दोनों की हत्या कर दी।

Ad Block is Banned