ताबूत से स्मगलिंग तो नारियल पानी की आड़ में शराब की बिक्री, एक गिरफ्तार

  • बुधवार को नवादा जिले में पुलिस ने धरा एक नाबालिग।
  • ठेले पर नारियल पानी की आड़ में बिक रही थी शराब।
  • इससे पहले ताबूत के जरिये शराब की तस्करी पकड़ी गई थी।

Amit Kumar Bajpai

February, 0503:19 PM

पटना। बिहार में भले ही शराब की बिक्री पर प्रतिबंध हो, लेकिन तस्कर शराब की बिक्री के लिए कोई न कोई नया तरीका ईजाद कर इसकी आपूर्ति कर ही रहे हैं। इसी तरह का एक मामला नवादा जिले के नगर थाना क्षेत्र में देखने को मिला जहां नारियल पानी की आड़ में शराब बेची जा रही थी। वहीं, इससे पहले ताबूत में शराब की तस्करी का मामला पकड़े जाने पर यहां जमकर अफरातफरी मची थी।

पुलिस ने शराब बेचे जाने की सूचना पर एक नाबालिग को गिरफ्तार कर शराब बरामद की है। नवादा नगर के थाना प्रभारी संजीव कुमार ने बुधवार को बताया, "सूचना मिली थी कि प्रजातंत्र चौक के पास नारियल पानी की आड़ में ठेले पर शराब बेची जा रही है। इसी आधार पर मंगलवार को पुलिस ने छापेमारी कर ठेले से 200 मिलीलीटर के 16 पाउच और देसी शराब की सात बोतलें बरामद कीं।"

बिहारः ताबूत में शराब तस्करी करने वाले गैंग का भंडाफोड़, 4400 लीटर अल्कोहल बरामद

उन्होंने बताया कि मौके पर से नाबालिग को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस उससे पूछताछ के आधार पर अन्य की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। उल्लेखनीय है कि बिहार में किसी प्रकार की शराब की बिक्री और उपयोग पर पूर्ण प्रतिबंध है।

गौरतलब है कि बीते वर्ष नवंबर में बिहार में सारण पुलिस ने एक ऐसे गैंग का भंडाफोड़ किया था, जो शराब की स्मगलिंग के लिए ताबूत का इस्तेमाल करता था। इस गैंग ने छह ताबूतों में काले कपड़े से ढककर शराब छिपाई हुई थी। यह सप्लाई पंजाब की रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट वाले ट्रक के जरिये की जा रही थी।

पुलिस ने ट्रक की तलाशी ली और पीछे रखे ताबूतों को खोला, तो उनके भीतर से 4,337 लीटर विदेशी शराब (भारत निर्मित) बरामद की गई। इसकी कीमत 20 लाख रुपये बताई जा रही है। कड़ाई से पूछताछ में पता चला कि इसे छपरा और पटना में सप्लाई किया जाना था। पुलिस ने ट्रक चालक को गिरफ्तार कर लिया था।

Big News: मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस पर दिल्ली की अदालत में आज दोषियों की सजा पर हुई सुनवाई

इस संबंध में सारण के एसपी हर किशोर राय ने कहा कि शराब की स्मगलिंग के इन अनोखे तरीके को देखकर यहां पर मौजूद हर कोई दंग रह गया। इससे पता चलता है कि स्मगलर कितने इन्नोवेटिव हो सकते हैं। उन्होंने शराब की इस खेप को इस तरह से छिपाया था कि इसको ढूंढ पाना बहुत मुश्किल था। हालांकि हमारे पास पंजाब से आ रहे एक ट्रक में शराब की खेप होने की पुख्ता सूचना थी।

बता दें कि 4 अप्रैल 2016 को बिहार में शराबबंदी की गई थी। इसके बाद प्रदेश भर में करीब 1.67 लाख लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और 52 लाख लीटर शराब जब्त की गई है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned