एटीएस ने सनातन संस्था से जुड़े तीन लोगों को गिरफ्तार किया, महाराष्ट्र को दहलाने की रच रहे थे साजिश

पुलिस ने वैभव के साथ दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है, इनके पास से भी विस्फोटक सामग्री मिली है।

Mohit Saxena

August, 1111:16 AM

मुंबई। मुंबई के करीब नालासोपारा में शुक्रवार को महाराष्ट्र एटीएस ने सनातन संस्था से संबंध रखने वाले एक पदाधिकारी वैभव राउत (40) को गिरफ़्तार कर लिया था। अब तक पुलिस ने दो और लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है। इनके पास से कई कच्चे बम और जिलेटीन बरामद किया गया है। एटीएस का कहना है कि ये महाराष्ट्र में कोई बढ़ी वारदात को अंजाम देने की कोशिश कर रहे थे। गौरतलब है कि वैभव राउत के घर से आठ देसी बम मिले थे। घर से थोड़ी ही दूरी पर मौजूद उननालासोपाराकी दुकान से बम बनाने का सामान भी मिला था। इसमें गन पावडर और डेटोनेटर भी बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि सनातन धर्म से जुड़े ये लोग नरेंद्र दोभालकर,गोविंद पंसारे और एमएम कुलबर्गी की हत्या से जुड़े हुए हैं। पत्रकार गौरी लकेश की हत्या में भी इन्हीं का हाथ बताया जा रहा है।

बम बनाने को नोट मिला

पुलिस द्वारा पकड़े गए दो अन्य आरोपियों के नाम सुधानवा गॉडलेकर (39) के रूप में हुई है। वह शिवप्रतिस्थान संस्थान का सदस्य है। इस संगठन के प्रमुख संभाजी भिड़े हैं। भिड़े के खिलाफ पुलिस ने भीमापुर गांव में हिंसा फैलाने के आरोप में केस दर्ज किया है। तीसरे शख्स का नाम शरद कसालकर (25) के रूप में हुई है। उसे राउत संग नालासोपारा वाले घर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस को कसालकर के पास से बम बनाने का नोट प्राप्त हुआ है। वहीं गॉडलेकर के पास बम बनाने का ज्ञान था। वह अन्य दो लोगों को बम बनाने की ट्रेनिंग दे रहा था।

गिरफ़्तारी को मालेगांव पार्ट-2 बताया

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बीते कुछ दिनों से एटीएस लगातार वैभव को ट्रैक कर रही थी। उसके फोन और गतिविधियों को ट्रैक किया जा रहा था। इधर हिंदू जनजागृति समिति ने वैभव राउत की गिरफ़्तारी को मालेगांव पार्ट-2 बताया है। उन्होंने वैभव को फंसाने का आरोप लगाया था।

Mohit Saxena
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned