पत्नी की पिटाई से परेशान होकर कर दी हत्या, फिर शव के पास बेटे के साथ घंटों तक बैठा रहा

पत्नी की पिटाई से परेशान होकर कर दी हत्या, फिर शव के पास बेटे के साथ घंटों तक बैठा रहा

Amit Kumar Bajpai | Publish: Sep, 07 2018 01:29:04 PM (IST) क्राइम

बेंगलुरु स्थित राजाजीनगर राम मंदिर के एक अपार्टमेंट में बुधवार को एक पति ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी और इसके बाद अपने बेटे के साथ शव के पास घंटों तक बैठा रहा।

बेंगलुरु। उत्तरी बेंगलुरु स्थित राजाजीनगर राम मंदिर के एक अपार्टमेंट में बुधवार को एक पति ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी और इसके बाद अपने बेटे के साथ शव के पास घंटों तक बैठा रहा। देर रात जब बाप-बेटे शव को ठिकाने लगाने जा रहे थे, तभी बिल्डिंग के सुरक्षागार्ड की नजर उन पर पड़ी। हाथ में खून से सने चादर से ढका कुछ अजीब देखकर जब उसे शक हुआ, तो उसने बिल्डिंग के लोगों और पुलिस को बुला लिया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मूलरूप से गुजरात के रहने वाले हीरेन कुमार की शादी महाराष्ट्र की रहने वाली प्रीति से हुई थी। दोनों तकरीबन 20 साल पहले बेंगलुरु आए थे और पिछले आठ वर्षों से इस कॉम्प्लेक्स में रह रहे थे। हीरेन का एक 15 वर्षीय बेटा है जो घर के पास ही एक निजी स्कूल में पढ़ता है।

बड़ा खुलासाः पाकिस्तान बन सकता है विश्व का पांचवां सबसे बड़ा परमाणु संपन्न राष्ट्र

पुलिस की मानें तो हीरेन महालक्ष्मी लेआउट की एक फूड मैन्यूफैक्चरिंग कंपनी में मैनेजर है, जबकि उसकी पत्नी गृहणी थी। हीरेन थोड़ा कम बोलते हैं और आस-पड़ोस में भी उनकी कम बोलचाल थी। वहीं, पत्नी प्रीति डिप्रेशन की मरीज थी, लेकिन व्यवहारिक स्वभाव था। पड़ोसियों की मानें तो दोनों की कभी किसी से कोई कहासुनी होते नहीं दिखी। शायद बुधवार सुबह दोनों के बीच कुछ हुआ था। वैसे हीरेन रोज सुबह करीब साढ़े नौ बजे दफ्तर चला जाता था, लेकिन बुधवार को नहीं गया।

 

Murder

पुलिस पूछताछ में हीरेन ने अपनी पत्नी प्रीति की हत्या की बात कबूल की। हीरेन ने बताया कि पत्नी प्रीति की हत्या के बाद रात में वह उसकी लाश ठिकाने लगाने के लिए जा रहा था। पुलिस ने जब हीरेन के पहली मंजिल पर बने फ्लैट की तलाशी ली, तो वहां पर पत्नी को मारने में इस्तेमाल किया गया चाकू भी बरामद किया। पुलिस ने हीरेन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

करोड़ों के लोन का फर्जीवाड़ाः छह महीने में मर गए 15 कर्जदार, एक गायब

वहीं, इस मामले की सबसे चौंकाने वाली बात यह रही कि हीरेन ने कबूला कि वो पत्नी की हत्या के बाद 10 घंटे तक अपने बेटे के साथ शव के पास बैठा रहा। उसने बताया कि पत्नी प्रीति छोटी-छोटी बातों पर अक्सर उसे ताने देती और पीटती थी। चूंकि पत्नी डिप्रेशन का शिकार थी इसलिए हीरेन उसे कुछ नहीं कहता था लेकिन उस दिन जब प्रीति ने उसे पीटना शुरू किया तो उसने भी आपा खो दिया और किचन में रखी चाकू उठाकर लाया, गर्दन काट दी।

इसके बाद शाम करीब साढ़े चार बजे बेटा जो पास के ही एक स्कूल में पढ़ता है वो वापस आया। घर में घुसते ही उसने देखा कि उसकी मां का शव जमीन पर पड़ा हुआ है और पापा पास ही में बैठे हैं। वह भी वहां पर बैठ गया। बाप-बेटा दोनों देर रात तक शव के करीब ही बैठे रहे। रात करीब 10.30 बजे बाप-बेटे ने लाश ठिकाने लगाने का फैसला लिया और इसके बाद चादर में लाश लपेटकर ले जाने लगे। लेकिन बिल्डिंग में नीचे जब अपनी गाड़ी के पास लाश लेकर पहुंचे, सिक्योरिटी गार्ड शरन ने उन्हें देेख लिया और मामले का पर्दाफाश हो गया। जुर्म में बेटे की भूमिका देखते हुए उसे जुवेनाइल होम भेज दिया गया है।

Ad Block is Banned