विदेश मंत्रालय से फर्जीवाड़े तरीके से गायब हुए 92 लाख रुपये, सीबीआई ने शुरू की जांच

विदेश मंत्रालय से फर्जीवाड़े तरीके से गायब हुए 92 लाख रुपये, सीबीआई ने शुरू की जांच

Kaushlendra Pathak | Publish: Jul, 13 2018 05:10:37 PM (IST) क्राइम

विदेश मंत्रालय में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है।

नई दिल्ली। विदेश मंत्रालय से एक सनसनीखेज खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि फर्जीवाड़े तरीके से मंत्रालय के कई अधिकारियों के जीपीएफ अकाउंट से 92 लाख रुपये निकाल लिए गए हैं। आनन-फानन में मामले की शिकायत सीबीआई से की गई है। वहीं, सीबीआई ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

विदेश मंत्रालय में बड़ा फर्जीवाड़ा

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सीबीआई मुख्यालय में एसीबी ब्रांच में यह मामला दर्ज किया गया है। जिसकी सीबीआई के डीएसपी रणविजय सिंह के नेतृत्व में तफ्तीश की जा रही है। हालांकि, इस मामले को एसीबी ब्रांच के एसपी वी एम मित्तल खुद मॉनिटर कर रहे हैं। सीबीआई अब मामले की तफ्तीश में जुटी है कि आखिर कैसे जीपीएफ अकाउंट से ये पैसे निकाले गए हैं। शुरुआत में ये 92 लाख का अवैध निकासी का मामला नजर आ रहा है। लेकिन, इस रकम में और शिकायतों की संख्या में और इजाफा होने की संभावना जताई जा रही है। बताया यह भी जा रहा है कि ये रकम मंत्रालय के जीपीएफ अकाउंट से अगस्त 2017 से फरवरी 2018 के बीच निकाली गई है।

ये हैं आकंड़े

जानकारी के मुताबिक, जीपीएफ खातों से रकम दिल्ली, गुवाहाटी और बरेली में दूसरे लोगों के खातों में ट्रांसफर करके ये फ्रॉड किया गया है। सीबीआई ने विदेश मंत्रालय के अज्ञात अधिकारियों और अन्य को आरोपी बनाया है। फिलहाल, इस मामले में किसी भी आरोपी का नाम सामने नहीं आया है। अब तक जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार इस फ्रॉड का शिकार हुए कर्मचारी विदेश मंत्रालय के मूल अधिकारी नहीं है। बल्कि, डेप्युटेशन पर हैं। जो लोग इस फ्रॉड के शिकार हुए हैं और जितने रकम निकले हैं वो इस प्रकार हैं। अंकित शर्मा (25 लाख रुपये, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, सफदरजंग, नई दिल्ली), अनुज सिंह टोकस (25 लाख रुपये, केनरा बैंक, बरेली, यूपी), राज कुमार गांजर( 20 लाख रुपये, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक, साकेत, दिल्ली), वी डी महतो (20 लाख रुपये, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, गुवाहाटी), राम कुमार (22 लाख रुपये, एक्सिस बैंक, जनकपुरी, नई दिल्ली)।

Ad Block is Banned