बिहार: किशनगंज में पुलिस व डकैतों के बीच मुठभेड़, 2 की मौत

बिहार: किशनगंज में पुलिस व डकैतों के बीच मुठभेड़, 2 की मौत

Mohit sharma | Publish: Sep, 12 2018 02:16:41 PM (IST) क्राइम

पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की। इसमें एक डकैत की गोली लगने से मौत हो गई जबकि पुलिसकर्मी विरसा उरांव शहीद हो गया।

किशनगंज। बिहार के किशनगंज से बड़ी खबर सामने आई है। यहां सिटी थाना क्षेत्र में मंगलवार की रात पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान एक डकैत को मार गिराया गया। वहीं, मुठभेड़ में दोनों और से चली गोलियों के बीच एक पुलिसकर्मी भी शहीद हो गया। पुलिस के अनुसार, पूरब पाली पॉवर हाउस के पास व्यवसायी नंद किशोर अग्रवाल उर्फ नंदू बाबू के घर में डकैतों ने रात को धावा बोल दिया।

जेएनयू चुनाव: अध्यक्षीय परिचर्चा पर टिकी सबकी नजर, एजेंडे में फीस बढ़ोतरी और छात्रवृत्ति जैसे अहम मामले

परिजनों ने चीखना चिल्लाना शुरू किया

डकैतो के घर में घुसने की जानकारी पर जब परिजनों ने चीखना चिल्लाना शुरू किया तो वहां से गुजर रही पुलिस टीम ने शोरगुल सुनकर किसी अनहोनी का अंदाजा लगाया। बाद में शक होने पर जब टीम मौके पर पहुुंची तो डकैतों ने पुलिस टीम को देखकर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई की। इसमें एक डकैत की गोली लगने से मौत हो गई जबकि पुलिसकर्मी विरसा उरांव शहीद हो गया। दमाशों की धरपकड़ के लिए पुलिस ने पूरे इलाके की नाकाबंदी कर दी और स्थानीय लोगों से एहतियात के तौर पर वहां से अलग हटने को कहा।

धारा 377 पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की स्टडी करेगी सेना, कानून में बदलाव का सुझाएगी रास्ता

तीन डकैतों को गिरफ्तार कर लिया

इस घटना में डकैतों ने विरोध कर रहे घर के एक सुरक्षाकर्मी को चाकू मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया है। किशनगंज के प्रभारी पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने बताया कि मुठभेड़ के बाद तीन डकैतों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिसके पास से कई हथियार और बम बरामद किए गए हैं। घायल सुरक्षाकर्मी का इलाज स्थानीय अस्पताल में करवाया जा रहा है। जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। गिरफ्तार डकैतों की निशानदेही पर पुलिस अन्य डकैतों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

Ad Block is Banned