हरियाणा: छह साल की बच्ची को घोड़े का इंजेक्शन लगाकर तीन बार किया रेप, बाद में की हत्या

आरोपी पिछले 11साल से पूर्व मंत्री के घोड़ा फार्म पर वेटरनरी के साथ काम कर रहा था। उसने ये कबूल किया है कि वारदात के दौरान वो नशे में था।

By: Kapil Tiwari

Published: 07 Jun 2018, 03:15 PM IST

चंडीगढ़। कहना गलत नहीं होगा कि भाजपा शासित राज्य हरियाणा में बेटियों की सुरक्षा को ताक पर रखा जा रहा है। बेटियों को सुरक्षित रखने में सरकार पूरी तरह से विफल नजर आ रही है। हरियाणा के यमुनानगर से एक छह साल की बच्ची के साथ उस दरिंदगी से रेप किया गया, जिसे सुनकर हर किसी की रूह कांप जाए। यमुनानगर के बेलगढ़ में हरियाणा के पूर्व मंत्री निर्मल सिंह का घोड़ा फार्म है, जहां बीते रविवार को एक छह साल की बच्ची के साथ वहीं के एक युवक ने रेप किया और उसके बाद बच्ची की हत्या कर दी। पुलिस ने बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने जब पूछताछ की तो उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए।

घोड़े की दवा से बच्ची को बेहोश कर किया रेप
आरोपी की पहचान देवी (40) के रूप में हुई है, जो कि राजस्थान के जैसलमेर का रहने वाला है। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वो पूर्व मंत्री के घोड़ा फार्म पर पिछले 11 साल से वेटरनरी सर्जन के पास काम कर रहा है। उनसे ये कबूल किया है कि छह साल की बच्ची के साथ उसी ने रेप किया और वारदात के दौरान उसने घोड़ों को सुस्त करने वाले इंजेक्शन का इस्तेमाल बच्ची पर किया। इसके बाद उसने 8 घंटे के अंदर तीन बार रेप किया। बाद में बच्ची की हत्या कर दी।

8 घंटे में किया तीन बार रेप
आरोपी ने पूछताछ में बताया कि देवी बच्ची के पिता के पास आता-जाता रहता था, इसलिए बच्ची उसे जानती थी। वारदात से एक दिन पहले दोपहर को जब बच्ची का पिता नदी पर मछली पकड़ने चला गया, तो बच्ची को पिता से मिलवाने के बहाने आरोपी उसे सुनसान स्थान पर ले गया। वहां पर आरोपी ने पहले तो बच्ची को घोड़े सुस्त करने वाला इंजेक्शन दिया, जिससे बच्ची बेहोश हो गई और उसने बच्ची के साथ 8 घंटे में तीन बार रेप किया। वहीं जब बच्ची को होश आने लगा तो उसने सब्जी काटने वाले चाकू से गला रेतकर उसकी हत्या कर दी।

नशे की हालत में बच्ची को बनाया हवस का शिकार
पुलिस ने बताया कि जब आरोपी की धरपकड़ के लिए हम निकले तो आरोपी देवी डर कर बीमारी का बहाना बनाकर स्थानीय अस्पताल में भर्ती हो गया। वारदात स्थल पर पुलिस को एक नई प्रयोग हुई सिरिंज मिली थी। इससे पुलिस यह पता कर रही थी कि दवा की देखरेख कौन करता है। वेटरनरी सर्जन के साथ काम करने वाले स्टाफ का पता कर सभी की तलाश शुरू की तो पुलिस को देवी गायब मिला। आरोपी ने पुलिस के सामने ये कबूल किया है कि उसका ये पहला जुर्म है और उसने जो भी किया वो नशे की हालत में किया। आरोपी देवी ने बताया है कि वह नशे में था इसलिए उसके दिमाग में गंदा विचार आया। काम से लौटते वक्त उसकी जेब में इंजेक्शन रह गया था जिसे उसने बच्ची को लगाया। वहीं बच्ची घर जाकर किसी को उसके बारे में बता न सके इसलिए ही उसने हत्या की। देवी ने बताया कि वह शादीशुदा है। इसके एक बेटी व दो बेटे हैं।

घटना को लेकर पूर्व मंत्री का बयान
इस घटना के बाद घोड़ा फार्म के मालिक पूर्व मंत्री निर्मल सिंह ने कहा था, 'इस घटना से मुझे गहरा आघात पहुंचा है, बच्ची के इस दुनिया से चले जाने से आज मुझे ऐसा लग रहा है कि मेरे परिवार का कोई सदस्य हमारे बीच नहीं रहा। वह बच्ची मेरे परिवार की मेंबर की तरह थी। मैंने स्वयं इस बच्ची को अपने सामने खेलते और बड़े होते देखा था।'

Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned