रिया चक्रवर्ती से पहले Byculla Jail में लाए जा चुके हैं ये मशहूर लोग

  • सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स एंगल के चलते रिया चक्रवर्ती( Rhea Chakraborty ) हिरासत में।
  • 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में बाइकुला जेल ( Byculla jail ) में रखी जाएंगी रिया चक्रवर्ती।
  • इससे पहले कई हाई प्रोफाइल लोग भी रखे जा चुके हैं इस जेल के अंदर।

 

मुंबई। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ( Rhea Chakraborty ) को मुंबई की बाइकुला जेल ( Byculla jail ) में लाया गया है। हालांकि इससे पहले भी इस जेल में कई मशहूर और हाई-प्रोफाइल शख्सियतें आ चुकी हैं। इस जेल में महिला कैदियों को रखा जाता है।

बाइकुला का इतिहास

18वीं शताब्दी के उत्तरार्ध के दौरान बाइकुला, मझगांव का विस्तार था। यह मूल रूप से मुंबई शहर का गठन करने वाले सात द्वीपों में से एक था। महालक्ष्मी में ग्रेट ब्रीच के माध्यम से उच्च ज्वार के दौरान इस क्षेत्र में कम ऊंचाई के फ्लैटों को काट दिया गया था। हालांकि, 1784 में हॉर्नी वेल्लार्ड परियोजना द्वारा ब्रीच को बंद कर दिया गया था, जो बॉम्बे के सभी सात द्वीपों को एक ही द्वीप में मिला देता था। इसके बाद 1793 में बेलासिस रोड कार्य-मार्ग का निर्माण किया गया। फिर इस क्षेत्र में बस्ती देखी गई क्योंकि मझगांव क्षेत्र में रहने वाले यूरोपीय लोगों ने यहां शिफ्ट करना शुरू कर दिया।

बाइकुला शहर में तब तक कई कपड़ा मिलें थीं, जब तक मिलें दुकान बंद करके द्वीप शहर से बाहर नहीं चली गईं। आज तक कुछ मिलें चालू हैं और अब वे बंद होने की कगार पर हैं। इन पुरानी मिलों में से कई अब उजाड़ हो गई हैं और कुछ में नए निर्माण के लिए रास्ते तलाशे जा जा रहे हैं। मई 1994 में बायकुला में स्थित खटाऊ मिल्स इसके मालिक सुनीत खटाऊ की कथित हत्या के लिए चर्चा में आई थी।

वर्ष 1936-37 के दौरान मंदिर-मस्जिद विवाद के दौरान बाइकुला ने कुछ भयानक दंगे देखे। आज बायकुला एक उच्च-मध्य-वर्गीय एन्क्लेव है जिसमें विभिन्न समाजों जैसे मराठी, गुजराती, ईसाई, मुस्लिम, जैन आदि की मिश्रित आबादी रहती है।

रिया चक्रवर्ती लाईं गईं

बुधवार को रिया चक्रवर्ती को दक्षिण मुंबई में एंटी-ड्रग एजेंसी के कार्यालय से बाइकुला जेल में स्थानांतरित कर दिया गया। अपने प्रेमी और अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े एक ड्रग मामले में मंगलवार को गिरफ्तारी के तुरंत बाद, उन्हें स्थानीय अदालत ने 22 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

बुधवार को वह NCB कार्यालय में रात बिताने के बाद सुबह 10.15 बजे बाहर निकलीं और एजेंसी के अधिकारियों द्वारा उन्हें बाइकुला जेल ले जाया गया। अदालत ने उसकी जमानत अर्जी खारिज कर दी थी। NCB ने अदालत को बताया था कि वह एक ड्रग सिंडिकेट की "सक्रिय सदस्य" थी और अपने प्रेमी राजपूत के लिए ड्रग्स खरीदती थीं।

ये मशहूर शख्सियतें आ चुकी हैं

इससे पहले दाऊद इब्राहिम की बहन हसीना पारकर, शीना बोरा मामले की आरोपी इंद्राणी मुखर्जी समेत कई अन्य दक्षिण अफ्रीकी ड्रग पैडलर्स व अन्य लोगों को भी रखा जा चुका है।

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned