दिल्ली: गर्लफ्रेंड से नजदीकियां बढ़ने पर मामा ने किया भांजे का कत्ल, शव को बालकनी में दफनाया

दिल्ली: गर्लफ्रेंड से नजदीकियां बढ़ने पर मामा ने किया भांजे का कत्ल, शव को बालकनी में दफनाया

Mohit sharma | Publish: Jan, 11 2019 11:19:25 AM (IST) क्राइम

यहां डाबड़ी इलाके से करीब 3 साल पहले अचानक लापता हुए शख्स की गुत्थी (एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वायड) ने सुलझा ली है।

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के द्वारका में हत्या से जुड़ी एक खबर का बड़ा खुलासा हुआ है। यहां डाबड़ी इलाके से करीब 3 साल पहले अचानक लापता हुए शख्स की गुत्थी (एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वायड) ने सुलझा ली है। जांच में सामने आया है कि युवक की हत्या उसके सगे मामा ने की थी। जबकि हत्या का कारण मामा की गर्लफ्रेंड से मृतक की नजदीकियां बढ़ना था। अपराध को छिपाने के लिए आरोपी ने शव को फ्लैट की बालकनी में गाड़ दिया था। वहीं, हत्यारे की तलाश में जुटी पुलिस ने आरोपी को हैदराबाद से ढूंढ निकाला। पुलिस ने आरोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ की है।

 

news

तुलसी का पौधा लगाने के लिए मिट्टी डलवाई

दरअसल, 8 अक्तूबर 2018 को दिल्ली पुलिस को चाणक्या प्लेस-1 के एक बिल्डिंग की तीसरी मंजिल पर एक कंकाल मिला था। यह कंकाल मकान की बालकनी से बरामद हुआ था। पूछताछ में मकान मालिक विक्रम सिंह पुलिस को बताया कि 2015 में उसने यह मकान बिजय कुमार महाराणा (35) नाम के व्यक्ति को किराए पर दी थी। विजय ने बालकनी में तुलसी का पौधा लगाने के लिए मिट्टी डलवाई थी। वहीं, कुछ समय बाद उसका भांजा जय प्रकाश महाराणा (25) अचानक लापता हो गया। तब मकान मालिक के कहने पर ही आरोपी भांजे की गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज कराई थी। जिसके कुछ दिन बाद ही विजय मकान खाली कर कहीं और रहने चला गया। उसके जाने के बाद में कई किराएदार वहां आए और रहने लगे लेकिन किसी को भी बालकनी में दफन शव का अंदाज नहीं हो सका। लेकिन जब बालकनी टूटा तो कंकाल देख सबके होश उड़ गए।

डीएनए जांच कराई तो पता चला शव कंकाल जय प्रकाश का

पुलिस ने पुष्टि के लिए डीएनए जांच कराई तो पता चला शव कंकाल जय प्रकाश का ही है। घटना के बाद जय प्रकाश के मामा बिजय ने अपने रिश्तेदार या परिजन से संपर्क नहीं साधा था। इस पर जब पुलिस को शक हुआ तो उसने विजय की खोजबीन शुरू की। इसकी जिम्मेदारी द्वारका जिले की एएटीएस को दी गई। एएटीएस टीम के इंस्पेक्टर राजकुमार को विशाखापटनम में बिजय के एक दोस्त देवाशीष का पता चला। जिसके बाद पुलिस को हैदराबाद में बिजय की गर्लफ्रेंड का पता चला। गर्लफ्रेंड की मोबाइल डिटेल से विजय की लोकेश हैदराबाद पाई गई, जिसके पुलिस ने उसको दबोच लिया।

भांजा दिल्ली में एक ही फ्लैट में रहते थे

पुलिस पूछताछ में बिजय ने बताया कि वह और उसका भांजा दिल्ली में एक ही फ्लैट में रहते थे। उसने बताया कि उसकी गर्लफ्रेंड उससे मिलने फ्लैट में आती थी। इस दौरान जय प्रकाश से उसकी नजदीकियां बढ़ गईं थी। यही वजह है कि उसने जय प्रकाश की हत्या की साजिश रची और 6 फरवरी 2016 की रात को उसने हत्या कर जय प्रकाश का शव फ्लैट की बालकनी में दफना दिया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned