दिल्‍ली पुलिस ने बीजेपी सांसद गौतम गंभीर के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट, धोखाधड़ी का आरोप

  • दिल्‍ली पुलिस ने साकेत कोर्ट में दाखिल की चार्जशीट
  • फ्लैट खरीदारों ने 2016 में कराया था धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज
  • बीजेपी सांसद की बढ़ सकती है मुश्किलें

Dhirendra Kumar Mishra

September, 2903:22 PM

नई दिल्‍ली। पूर्वी दिल्‍ली से भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर के खिलाफ करीब 50 फ्लैट के खरीददारों ने 2016 में एक वाद दर्ज कराया था। फ्लैट खरीदारों ने आरोप लगाया था कि बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने 2011 में गाजियाबाद के इंदिरापुरम में एक रियल एस्टेट प्रोजेक्ट में फ्लैट बुक किए थे, लेकिन अभी तक उन्हें फ्लैट नहीं मिले हैं।

अब धोखाधड़ी के इस मामले में दिल्ली पुलिस ने उनके व अन्य के खिलाफ दिल्‍ली के साकेत कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट दाखिल होने से टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और भाजपा सांसद गौतम गंभीर की परेशानी बढ़ सकती है।

क्‍या है आरोप
करीब 50 फ्लैट के खरीददारों ने ये आरोप लगाते हुए शिकायत की है कि उन्होंने 2011 में गाजियाबाद के इंदिरापुरम में एक रियल एस्टेट प्रोजेक्ट में फ्लैट बुक किए थे, लेकिन अभी तक उन्हें फ्लैट नहीं मिले हैं

गंभीर ने प्रोजेक्‍ट में बायर्स को किया आकर्षित

बता दें कि बीजेपी सांसद गौतम गंभीर रूद्र बिल्डवेल रियलिटी प्राइवेट लिमिटेड और एचआर इंफ्रासिटी प्राइवेट लिमिटेड की संयुक्त परियोजना के डायरेक्ट और ब्रांड एंबेसडर थे। इस मामले में उनके खिलाफ हाउसिंग प्रोजेक्ट की बुकिंग के बहाने करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में केस दर्ज किया गया था।

दिल्‍ली पुलिस की ओर से दाखिल चार्जशीट के मुताबिक कंपनी की तरफ से 6 जून, 2013 को बायर्स को फ्लैट देने का वादा करने के बाद भी 2014 तक टाल-मटोल किया जाता रहा। 15 अप्रैल, 2015 में अधिकारियों ने आवश्यक लाइसेंस फीस व अव्यवस्था के कारण प्रोजेक्ट का अनुमोदन रद कर दिया था।

इस मामले में बीजेपी सांसद गौतम गंभीर के अलावा प्रमोटर मुकेश खुराना, गौतम मेहरा और बबीता खुराना सहित अन्य के नाम चार्टशीट में शामिल हैं। बायर्स का आरोप है कि गंभीर ने प्रोजेक्ट में निवेश करने के लिए बायर्स को आकर्षित करने में कंपनी की मदद की थी।

Show More
Dhirendra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned