गुजरात: चोरी में गई बकरी की तलाश में कई दिनों तक भटकती रही पुलिस, दो शहरों में छेड़ा सर्च आॅपरेशन

Mohit sharma

Publish: Jul, 14 2018 10:27:24 AM (IST)

क्राइम
गुजरात: चोरी में गई बकरी की तलाश में कई दिनों तक भटकती रही पुलिस, दो शहरों में छेड़ा सर्च आॅपरेशन

बकरी चोर को पकड़ने के लिए सूरत और अहमदाबाद में पुलिस और आरपीएफ दोनों को मिलकर खूब पसीना बहाना पड़ा।

नई दिल्ली। गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में चोरी हुई एक बकरी ने पुलिस के सामने संकट खड़ा कर दिया। यहां तक कि बकरी की तलाश में जुटी पुलिस को दो शहरों में बड़ा अभियान छेड़ना पड़ा। यही नहीं बकरी चोर को पकड़ने के लिए सूरत और अहमदाबाद में पुलिस और आरपीएफ दोनों ने मिलकर खूब पसीना बहाया। आखिर में बकरी को सूरत रेलवे स्टेशन पर मुंबई जा रही ट्रेन से बरामद किया गया। जिसके बाद पुलिस उसको लेकर वापस अहमदाबाद आई, लेकिन पुलिस को बड़ा झटका तब लगा जब पता चला कि वह गलत बकरी को पकड़ लाई है।

मानसून: दिल्ली में आज फिर मूसलाधार बारिश के आसार, खुशगवार बना रहेगा मौसम

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कुछ दिन पहले अहमदाबाद के असारवा इलाके से एक बकरी चोरी हुई थी। पुलिस को पता चला कि कुछ लोग बकरी को सफेद रंग की ईको कार उठा ले गए। इसके बाद स्थानीय विधायक विधायक प्रदीप परमार ने पुलिस को बकरी की बरामदगी के लिए कहा। विधायक के अनुसार यह बकरी एक गरीब परिवार की थी और वह उसको अपने बेटे की शादी के लिए बेचना चाह रहा था। इस बकरी की कीमत 80 हजार रुपए बताई गई है। विधायक का कहना है कि यह एक निहायत गरीब परिवार की बकरी है। यही कारण है कि मैं खुद परिवार के मदद करने के लिए आगे आए।

समलैंगिकता: याचिकाकर्ता को डर- कहीं आपस में संबंध न बनाने लगें सेना के जवान!

वहीं, बकरी की बरामदगी के बाद जब उसको वापस अहमदाबाद लाया गया तो पता चला कि पुलिस किसी दूसरी बकरी को पकड़ लाई है। दरअसल, बकरी की मालकिन मधुबेन केसाभाई का कहना है कि ‘विधायक प्रदीप परमार के सहयोग से हमें बकरी मिल गई, लेकिन जब हम उसे लाए तो तो पता चला कि उसके कान पर किसी तरह के निशान हैं, जबकि हमारी बकरी के कान पर कोई निशान नहीं था। ऐसा पाए जाने के बाद हमने तुरंत पुलिस से संपर्क साधा और बकरी वापस कर दी।

Ad Block is Banned