वीरभद्र सिंह की बढ़ी मुश्किलें, पटियाला हाउस कोर्ट ने जारी किया समन 

वीरभद्र सिंह की बढ़ी मुश्किलें, पटियाला हाउस कोर्ट ने जारी किया समन 

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही। आय से अधिक संपति के मामले में सोमवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने उनके खिलाफ समन जारी किया। 

नई दिल्ली. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही। आय से अधिक संपति के मामले में सोमवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने उनके खिलाफ समन जारी किया है। कोर्ट में सीबीआई ने वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह समेत 9 लोगों के खिलाफ आय से अधिक संपति के मामले में चार्जशीट दाखिल की थी। इस मामले के सभी आरोपियों को आगामी 22 मई को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश होना होगा। बता दें कि सीबीआई ने अपने चार्जशीट में वीरभद्र सिंह की संपति को आय से 10.30 करोड़ ज्यादा बताया है। 

सितंबर 2015 में दर्ज किया हुआ था मुकदमा 
वीरभद्र सिंह के खिलाफ सीबीआई ने सितंबर 2015 में आय से अधिक संपति होने एवं भ्रष्टाचार के मामले का मुकदमा दर्ज किया था। मुकदमें में चली जांच के बाद सीबीआई ने वीरभ्रद सिंह के करीबी एलआईसी एजेंट आनंद चौहान को पिछले साल जुलाई में गिरफ्तार किया था। आनंद अभी जेल में ही है। 

आईडी भी कर रहा है जांच 
वीरभद्र सिंह की संपति के मामले में सीबीआई के अलावा प्रवर्तन निदेशालय भी जांच कर रहा है। आईडी अभी वीरभद्र सिंह की 2009-2012 के दौरान जुटाई गई 6.03 करोड़ रुपये की संपत्ति की जांच कर रहा है।

इसी साल है हिमाचल प्रदेश में चुनाव 
हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव इसी साल दिसंबर में होना है। राजनीतिक दल इसकी तैयारी में जुटे है। जबकि कांग्रेस के लिए यह केस बड़ी मुश्किलें खड़ी कर रही है। कांग्रेस पहले ही अपने मुख्यमंत्री के खिलाफ लगे सभी आरोपों को गलत बता चुकी है। कांगेस का कहना है कि वीरभद्र सिंह के खिलाफ सभी आरोप राजनीति से प्रेरित है। 

गाड़ियों के नंबर से फंस रहें वीरभद्र सिंह   
आय से अधिक संपति के मामले में वीरभद्र सिंह पर चल रही जांच के दौरान कुछ अहम सबूत जांच एजेंसियों के हाथ लगे हैं। यूपीए सरकार में इस्पात मंत्री रहते हुए वीरभद्र की आय में आई बढ़ोतरी को सीएम ने सेब के बागानों की आय बताया था। लेकिन इनकम टैक्स विभाग की जांच में सामने आया कि जिन वाहनों से सेब की ढुलाई कागजों में दिखाई गई थी, उनमें कुछ के नंबर टू व्हीलर के थे।

Ad Block is Banned