हनी ट्रैप: वायु सेना कैप्‍टन मामले में बड़ा खुलासा,पाक के निकले आईपी एड्रेस

हनी ट्रैप: वायु सेना कैप्‍टन मामले में बड़ा खुलासा,पाक के निकले आईपी एड्रेस

Kiran Rautela | Publish: Apr, 17 2018 01:00:43 PM (IST) क्राइम

ये दोनों ही अकाउंट फेसबुक पर पिछले नवंबर में पाकिस्तान में बनाए गए थे।

नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह मामले में एक नया मोड़ सामने आया है। हनी ट्रैप का शिकार होकर आईएसआई के एजेंटों को गुप्त जानकारियां देने के आरोपी अरुण मारवाह का लिंक पाकिस्तान की महिलाओं से होने के पुख्ता सबूत मिले हैं। दरअसल, स्पेशल सेल द्वारा गिरफ्तार किए गए वायु सेना अधिकारी को व्हाट्सएप्प चैट पर एक महिला जासूस से प्यार हो गया। ये महिला जासूस पाकिस्तान की बताई जा रही हैं। अब स्पेशल सेल को इस मामले की छानबीन में कई और नई बातों का पता लगा है।

जांच के दौरान स्पेशल सेल ने किरण रंधावा और महिमा पटेल नाम की दो महिलाओं का फेसबुक अकाउंट खंगाला और फेसबुक से अकाउंट की डिटेल्स भी मांगी। फेसबुक ने बताया कि ये दोनों ही अकाउंट फेसबुक पर पिछले नवंबर में पाकिस्तान में बनाए गए थे।

पाक के हैं आईपी एड्रेस

यही नहीं अरुण मारवाह ने जितनी बार भी इन दोनों फेसबुक अकाउंट से चैट की है उतनी बार सारे आईपी एड्रेस पाकिस्तान के ही हैं। पुलिस ने अब इन दोनों महिला जासूसों के अकाउंट्स की पूरी जानकारी मांगी है।

बता दें कि यरफोर्स अधिकारी सोशल मीडिया पर चैट करके महिलाओं की खूबसूरत अदाओं पर फिदा हो गए और प्यार कर बैठे। इनके प्यार का परवान दिनोंदिन बढ़ता ही गया।

अरुण मारवाह ने किया खुलासा

गौरतलब है कि ये खुलासा खुद ग्रुप कप्तान अरुण मारवाह ने किया है। मारवाह ने स्पेशल सेल को बताया कि 20 दिसंबर, 2017 को किरण रंधावा ने अधिकारी को फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी। इसके साथ ही मैसेंजर पर भी मैसेज भेजा था। इसके पांच दिन बाद ही उन्हें एक अन्य महिमा पटेल की तरफ से फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट मिली। कुछ समय के बाद से इनके बीच चैट शुरु हो गई। फिर समय के साथ इन लोगों ने व्हाट्सएप्प चैट भी की। मारवाह ने आगे बताया कि इसी बातचीत के दौरान वह स्मार्ट फोन अपने आॅफिस लेकर जाने लगे और उन्होंने एक दर्जन खुफिया दस्तावेज इन्हें व्हाट्सएप्प चैट के जरिये भेज दिए।

शक होने पर एयरफोर्स के अधिकारियों ने अरुण मारवाह को दफ्तर में ही स्मार्ट फोन के साथ पकड़ा। और ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत मामला दर्ज कर अरुण मारवाह को गिरफ्तार किया गया था।

Ad Block is Banned