जम्मू ग्रेनेड हमले में खुलासा: हिजबुल ने 16 साल के आतंकी को दिए थे 50 हजार रुपए

जम्मू ग्रेनेड हमले में खुलासा: हिजबुल ने 16 साल के आतंकी को दिए थे 50 हजार रुपए

Chandra Prakash Chourasia | Publish: Mar, 08 2019 05:44:41 PM (IST) क्राइम

  • हिजबुल मुजाहिदीन ने कराया जम्मू बस स्टैंड पर ग्रेनेड हमला
  • गिरफ्तार आतंकी के आधार कार्ड में उम्र 16 साल से कम
  • ग्रेनेड हमले में अबतक दो की मौत, 30 जख्मी

नई दिल्ली। जम्मू बस स्टैंड पर गुरुवार को हुए ग्रेनेड हमले में जम्मू कश्मीर पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। आतंकी यासीर भट्ट से पुलिस पूछताछ में इस हमले के लिए मिली रकम का खुलासा किया है। शुक्रवार को भट्ट ने पुलिस को बताया कि ग्रेनेड फेंकने के लिए हिजबुल मुजाहिदीन ने उसे 50,000 रुपए दिए थे।

नाबालिग है हमलावर!

हमले को अंजाम देने के बाद आतंकी को कश्मीर घाटी की ओर भागते वक्त जम्मू शहर के बाहरी इलाके नागरोटा के टोल प्लाजा से गिरफ्तार किया गया। प्रत्यक्षदर्शियों और सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस उसे पकड़ने में सफल रही। सूत्र बताते हैं कि आतंकी के पास से आधार कार्ड और स्कूल आई कार्ड मिला है। अगर संदिग्ध के दस्तावेज सही हैं, तो उसकी जन्मतिथि 12 मार्च 2003 है, जिसका मतलब है कि वह नाबालिग है।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर रॉबर्ट वाड्रा का भावुक पोस्ट- 4 मजबूत महिलाओं से घिरा होने की खुशी है

हिजबुल ने दिए थे 50,000 रुपए

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हिजबुल मुजाहिदीन के एक सदस्य मुजाम्मिल ने हमले को अंजाम देने के लिए हमलावर को 50,000 रुपए और एक ग्रेनेड दिए थे। पूछताछ से पता चला कि हिजबुल के जिला कमांडर फैयाज भट्ट ऊर्फ उमर ने इस घटना को अंजाम देने के लिए वास्तव में मुजाम्मिल को चुना था, लेकिन वह इसे कर नहीं पाया। इसके बाद भट्ट ने इस वारदात का जिम्मा यासिर जावेद भट्ट ऊर्फ छोटू को दिया गया था।

ग्रेनेड हमले में बढ़ी मृतकों की संख्या

इस ग्रेनेड हमले में मृतकों की संख्या बढ़कर दो हो गई है। पुलिस ने बताया कि ग्रेनेड एक खड़ी बस के नीचे फटा था, जिसमें घायल हुए मोहम्मद रियाज ने शुक्रवार तड़के अस्पताल में दम तोड़ दिया। इससे पहले गुरुवार को ही उत्तराखंड के एक 17 वर्षीय युवक की मौत हो गई थी और 30 अन्य घायल हो गए थे। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मृतक के परिजनों को 5-5 लाख रुपए और सभी घायलों को 20,000 रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned